'जलवायु परिवर्तन पर रणनीतिक साझेदारी'

हिलेरी क्लिंटन की भारत यात्रा

अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन ने कहा है जलवायु परिवर्तन जैसे मुद्दों पर भारत और अमरीका के बीच रणनीतिक साझेदारी की ज़रूरत है.

राजधानी दिल्ली से सटे शहर गुड़गाँव में जलवायु परिवर्तन पर सेमीनार में हिस्सा लेने के बाद संयुक्त संवाददाता सम्मेलन में उन्होंने कहा कि ख़तरनाक़ गैसों का उत्सर्जन रोकने के लिए देशों को सख्त क़दम उठाने चाहिए.

इस मौके पर भारत के पर्यावरण और वन राज्य मंत्री जयराम रमेश ने कहा कि भारत भी जलवायु परिवर्तन के मुद्दे पर गंभीर है. उन्होंने कहा, "ये कहना गलत होगा कि भारत कार्बन उत्सर्जन पर क़रार से भाग रहा है. हमने इसके लिए पहले से ही नीति बना ली है. हाँ, अभी हम क़ानूनी तौर पर इस पर सख़्ती से रोक लगाने की स्थिति में नहीं हैं."

आतंकवाद के मुद्दे पर हिलेरी क्लिंटन ने कहा कि अमरीका आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ रहा है और उम्मीद करता है कि दुनिया का हर देश इस लड़ाई में हिस्सा ले.

अमरीकी विदेश मंत्री ने कहा कि वो उम्मीद करती हैं कि पाकिस्तान आतंकवाद के ख़िलाफ़ संघर्ष को लेकर गंभीर है. उन्होंने कहा कि चरमपंथियों के बीच गठजोड़ तोड़ने की पाकिस्तान सरकार की कार्रवाई पर नज़र रखी जा रही है.

इससे पूर्व, हिलेरी क्लिंटन ने शनिवार को अपनी मुंबई यात्रा के दौरान ऊर्जा सुरक्षा, कृषि, वैश्विक आर्थिक संकट, शिक्षा, गरीबी उन्मूलन और जलवायु परिवर्तन जैसे मसलों पर चर्चा की.

मुंबई में उन्होंने कहा कि दोनों देश आपसी सहयोग के नए दौर में प्रवेश कर चुके हैं.

पांच दिवसीय दौरे पर भारत आई हिलेरी ने कहा, "भारत के साथ एक नए दौर की शुरूआत हो रही है."

अमरीकी विदेश मंत्री ने मुंबई में कहा कि भारत और अमरीका दोनों ही आतंकवाद से प्रभावित हैं और दोनों को ही मिलजुलकर काम करना चाहिए.

ताज होटल में दिए अपने भाषण में हिलेरी क्लिंटन ने कहा कि हम दुख दर्द में भारतीय लोगों के साथ हैं.

महिलाओं से सबक

समाज के निचले तबके की भारतीय महिलाओं की सराहना करते हुए अमरीकी विदेशमंत्री हिलेरी क्लिंटन ने गुजरात स्थित संस्था 'सेवा' को पूरी दुनिया के लिए आदर्श बताया.

अनेक विकसित देशों के साथ हम भी जलवायु परिवर्तन से पैदा होने वाली मुसीबतों के लिए ज़िम्मेदार हैं. हम उम्मीद करते हैं कि भारत जैसा महान देश वह ग़लती नहीं दोहराएगा.

हिलेरी क्लिंटन

सेल्फ एंप्लॉएड वुमन एसोसिएशन (सेवा) की स्थापना इला भट्ट ने की थी.

हिलेरी क्लिंटन ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि अमरीका ग़रीबी उन्मूलन कार्यक्रम में भारत की पूरी सहायता करेगा.

उन्होंने जलवायु परिवर्तन के मसले पर कहा, "हम राष्ट्रपति ओबामा की इस बात से सहमत हैं कि हमने ग़लती की है. अनेक विकसित देशों के साथ हम भी जलवायु परिवर्तन से पैदा होने वाली मुसीबतों के लिए ज़िम्मेदार हैं. हम उम्मीद करते हैं कि भारत जैसा महान देश वह ग़लती नहीं दोहराएगा.

आमिर से मुलाक़ात

अमरीका की विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन और अभिनेता आमिर ख़ान ने शनिवार को एक मंच से वंचित तबकों को समुचित शिक्षा के अवसर उपलब्ध कराने की आवश्यकता पर जोर दिया.

इन दोनों हस्तियों ने स्थानीय सेंट जेवियर्स कॉलेज में शिक्षा के विषय पर स्वैछिक संगठनों के प्रतिनिधियों और अन्य आमंत्रित लोगों के साथ एक संगोष्ठी को संबोधित किया.

हिलेरी का कहना था कि बच्चों की नैसर्गिक प्रतिभा और उन्हें जीवन में मिलने वाले अवसर के बीच के अंतर को पाटने की जरूरत है.

आमिर ख़ान ने कहा कि भारत में अब भी शिक्षा का पूरा प्रसार नहीं हुआ है और देश को और अधिक अच्छे शिक्षकों की तलाश है.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.