अख़बारों में छाईं हिलेरी क्लिंटन

भारतीय अख़बार
Image caption अख़बारों ने अमरीकी विदेश मंत्री हिलेरी क्लिंटन की ख़बर को प्रमुखता से छापा है

दिल्ली के सभी अख़बारों के पहले पन्ने पर हिलेरी क्लिंटन छाई हुईं हैं.

सभी ने उनकी तस्वीर छापी हैं और शनिवार को मुंबई में उन्होंने जो कुछ कहा, उसके बारे में अलग अलग दृष्टिकोणों से जानकारी दी है.

हिंदुस्तान ने पहले पन्ने पर हिलेरी क्लिंटन की अलग अलग मुद्राओं में तस्वीरें छापी हैं और अख़बार का शीर्षक है- छा गईं हिलेरी.

इंडियन एक्सप्रेस के मुताबिक हिलेरी का कहना है कि अमरीका भारत पर पाकिस्तान से बातचीत करने के लिए किसी तरह का दबाव नहीं डाल रहा है. और पिछले छह महीनों में पाकिस्तान ने आतंकवाद के ख़िलाफ़ लड़ाई में ज़्यादा प्रतिबद्धता व्यक्त की है.

दैनिक जागरण का शीर्षक है- पाक को हिलेरी का मीठा डोज़.

अख़बार लिखता है कि हिलेरी को इस यात्रा के दौरान दोनो देशों के बीच होने वाले रक्षा सौदों को लेकर सबसे ज्यादा उम्मीदें हैं.

अंग्रेज़ी दैनिक हिंदुस्तान टाइम्स की हेडिंग है- नमस्ते इंडिया, साथ में उसने हिलेरी क्लिंटन की हाथ जोड़े तस्वीर छापी है.

अख़बार लिखता है कि हिलेरी क्लिंटन ने मुंबई में सहानुभूति का हाथ बढ़ाया और कूटनीतिक बातचीत दिल्ली के लिए रखी.

अमर उजाला का शीर्षक है- हिलेरी ने कहा, पाक लश्कर को उखाड़ फेंके.

अख़बार लिखता है कि हिलेरी ने कहा कि पाकिस्तान को चरमपंथी संगठनों को जड़ से उखाड़ फेंकने के लिए ठोस क़दम उठाने चाहिए.

नवभारत टाइम्स की सुर्खी है- हिलेरी ने कहा, पाक कमिटेड है आंतक के ख़िलाफ़.

अख़बार ने अपने समूह के टीवी चैनल के साथ हिलेरी क्लिंटन की विशेष बातचीत को प्रमुख ख़बर बनाया है जिसमें उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान को एक एक चरमपंथी संगठन के ख़िलाफ़ कड़ी कार्रवाई करनी होगी.

अख़बार ने हिलेरी क्लिंटन के हवाले से लिखा है कि ये संगठन खु़द पाकिस्तान के लिए ख़तरा बन गए हैं और इस बारे में उसे साफ़ साफ़ बता दिया गया है.

संबंधित समाचार