छेड़छाड़ करने वाला विधायक गिरफ़्तार

  • 21 जुलाई 2009

आंध्र प्रदेश पुलिस की क्राइम ब्रांच शाखा ने राज्य के विपक्षी दल तेलुगु देशम पार्टी के एक विधायक टीवी रामा राव को लड़कियों को छेड़ने के आरोप में गिरफ़्तार किया है.

टीवी रामा राव पर आरोप है कि उन्होंने एक नर्सिंग कॉलेज की छात्राओं के साथ छेड़छाड़ की है. निदादवोले में स्थित यह नर्सिंग कॉलेज रामा राव का ही है.

इस संस्थान में पढ़ने वाली केरल की पांच छात्राओं की शिकायत के बाद क्राइम ब्रांच की एक टीम ने पश्चिमी गोदावरी ज़िले के एलुरु से रामा राव को गिरफ़्तार किया. गिरफ़्तारी के दौरान रामा राव ने अपने समर्थकों से शांति रखने की अपील की लेकिन पार्टी के कुछ कार्यकर्ताओं ने प्रदर्शन किया और गिरफ़्तारी को एक दलित विधायक के ख़िलाफ़ राजनीतिक साज़िश बताया.

यह पूरा मामला 14 जून को शुरु हुआ था जब पुलिस निदादवोले के कॉलेज में एक हत्या की जांच करने गई और विधायक रामा राव के ख़िलाफ़ बलात्कार और हत्या का मामला दर्ज़ किया. मामले ने राजनीतक रंग पकड़ा और तेलुगु देशम ने कहा कि यह सत्तारुढ़ कांग्रेस की साज़िश है जिसके तहत वो चाहते हैं कि रामा राव कांग्रेस पार्टी में शामिल हों.

हालांकि बाद में पुलिस ने रामा राव को क्लीन चिट दी और कहा कि कॉलेज में हुई हत्या के संदर्भ में रामा राव के ख़िलाफ़ कोई सबूत नहीं है. राज्य सरकार ने मामला क्राइम ब्रांच को सौंप दिया.

कुछ दिनों बाद मामले ने एक और मोड़ लिया जब केरल की पांच लड़कियां हैदराबाद आईं और रामा राव पर उन्हें छेड़ने का आरोप लगाया. लड़कियों का कहना था कि उनके साथ छेड़छाड़ किया गया और यौन शोषण भी हुआ.

केरल सरकार ने मामले को गंभीरता से लिया और केरल के स्वास्थ्य मंत्री टीके श्रीमती ने इस मामले में प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, केंद्रीय गृह मंत्री पी चिदंबरम और राज्य के मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी को पत्र लिखा और जांच की मांग की.

तेलुगु देशम ने भी राज्यपाल समेत कई अन्य फोरमों पर सरकार पर आरोप लगाया कि वो एक विधायक को ग़लत तरीके से फंसा रही है.