कलाम की तलाशी पर संसद में हंगामा

एपीजे अब्दुल कलाम
Image caption अब्दुल कलाम की तलाशी का मामला संसद में उठा

दिल्ली हवाई अड्डे पर भारत के पूर्व राष्ट्रपति एपीजे अब्दुल कलाम की तलाशी का मामला तूल पकड़ता जा रहा है. सरकार ने इस मामले में अमरीकी एयरलाइन कंपनी को नोटिस जारी किया है.

संसद के ऊपरी सदन राज्यसभा में कई दलों के नेताओं ने यह मामला उठाया और सरकार से कॉंटिनेंटल एयरलाइंस का लाइसेंस रद्द करने की माँग की.

सदस्यों ने कहा कि इस तरह की लापरवाही को बर्दाश्त नहीं किया जा सकता और इस कंपनी को भारत में विमान सेवा देने की इजाज़त नहीं मिलनी चाहिए.

प्रोटोकॉल के हिसाब से देश के पूर्व राष्ट्रपति होने के नाते एपीजे अब्दुल कलाम भारत के उन अहम शख़्शियतों में शामिल हैं जिन्हें इस तरह की तलाशी से अलग रखा गया है.

ये मामला 24 अप्रैल का है जब अब्दुल कलाम कॉंटिनेंटल एयरलाइंस के विमान से दिल्ली से अमरीकी शहर नेवार्क जा रहे थे.

सदस्यों का कहना था कि अब्दुल कलाम एक आम भारतीय नागरिक नहीं बल्कि देश के पूर्व राष्ट्रपति हैं और उनका अपमान एक तरह से भारत का अपमान है.

कारण बताओ नोटिस

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेता प्रकाश जावड़ेकर ने कहा, “यह विमान कंपनी अपने स्टाफ़ को इस तरह की तलाशी से राहत देती है, वहीं भारत के पूर्व राष्ट्रपति को जाँच के लिए मज़बूर किया जाता है. इसलिए उस हवाई कंपनी को भारत से उड़ने की इजाज़त रद्द कर दी जानी चाहिए.”

भाजपा के ही अरुण जेटली का कहना था की इससे पहले भी ऐसी घटनाएं होती रही हैं.

उन्होंने कहा, “एक लोक सभा अध्यक्ष को अपना एक विदेश दौरा इसी तरह के एक मामले के कारण रद्द करना पड़ा, हमारे एक पूर्व मंत्री के कोट और बेल्ट तक उतरवा कर उनकी तलाशी ली गई. दूसरी ओर हम अभी भी भारत आ रहे मेहमानों के लिए हवाई पट्टी पर गाडियाँ भेजते हैं.”

वामपंथी नेता सीताराम येचुरी ने सवाल उठाया कि कहीं ऐसी तलाशी इसलिए तो नहीं ली गई कि ‘हमारे पूर्व राष्ट्रपति का नाम अब्दुल कलाम था?’

नागरिक उड्डयन मंत्री प्रफुल्ल पटेल ने सदस्यों की नाराजगी के बाद अपने जवाब में कहा किउनके मंत्रालय ने कॉंटिनेंटल एयरलाइंस को शुरुआती जांच के आधार पर कारण बताओ नोटिस जारी किया है और जांच पूरी होने पर इस मामले में कंपनी के ख़िलाफ़ उचित कार्रवाई की जाएगी.

कुछ साल पहले अमरीकी हवाई अड्डे पर तत्कालनी रक्षा मंत्री जॉर्ज फ़र्नांडिस की तलाशी का मुद्दा उठा था. पिछले लोकसभा के अध्यक्ष सोमनाथ चटर्जी ने भी हवाई अड्डे पर तलाशी का विरोध करते हुए ऑस्ट्रेलिया का दौरा रद्द कर दिया था.

संबंधित समाचार