'पाकिस्तान से कोई सबूत नहीं मिला'

शशि थरूर
Image caption शशि थरूर ने पाकिस्तान के आरोपों को बेतुका बताया है

भारत ने पाकिस्तान की ज़मीन पर चरमपंथी गतिविधियों में हाथ होने से संबंधित कोई सबूत (डॉसियर) मिलने से इनकार किया है.

पाकिस्तानी मीडिया के एक तबके ने ऐसी रिपोर्ट प्रकाशित की है कि पाकिस्तान सरकार ने श्रीलंकाई टीम पर हुए हमले और अन्य चरमपंथी गतिविधियों में भारत का हाथ होने से संबंधित दस्तावेज़ भारत को सौंप दिया है.

लेकिन भारत में प्रधानमंत्री कार्यालय ने ऐसा कोई डॉसियर मिलने से इनकार किया है.

भारतीय विदेश राज्य मंत्री शशि थरूर ने कहा है कि ये एक बेतुका आरोप है और वहां (पाकिस्तान) की मीडिया रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया देना उचित नहीं होगा.

उन्होंने कहा, "अपनी सरकार की अक्षमता की ज़िम्मेदारी पड़ोसी के कंधों पर डाल देना कोई अच्छी बात नहीं है."

पाकिस्तान के अंग्रेज़ी अख़बार 'द डॉन' में बुधवार को एक रिपोर्ट छपी थी जिसमें कहा गया है कि लाहौर में श्रीलंकाई क्रिकेट टीम पर हमले समेत कई अन्य चरमपंथी गतिविधियों में भारत का हाथ होने से संबंधित 'समग्र सबूत' भारत को सौंप दिए गए हैं.

इस अख़बार के मुताबिक ख़ुद पाकिस्तानी प्रधानमंत्री यूसुफ़ रज़ा गिलानी ने मिस्र में गुटनिरपेक्ष देशों की बैठक के दौरान भारत के प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह को यह डॉसियर दिया है.

संबंधित समाचार