मेट्रो मामले में कड़े क़दम उठाए गए

  • 28 जुलाई 2009
मेट्रो निर्माण
Image caption मेट्रो में हाल में हुए हादसे के बाद अब सुरक्षा के लिए कड़े क़दम उठाए जा रहे हैं.

दिल्ली मेट्रो की एक लाइन में पिछले दिनों हुए हादसे की गूंज संसद में सुनाई दी है और शहरी विकास मंत्रि ने कार्रवाई रिपोर्ट पेश की है.

दक्षिणी दिल्ली के जमरुदपुर में हुए हादसे में छह लोग मारे गए थे जिसके बाद इसकी जांच के लिए दिल्ली मेट्रो रेल कॉरपोरेशन ने उच्च स्तरीय समिति गठित की थी.

इस समिति की कार्रवाई रिपोर्ट संसद में पेश करते हुए शहरी विकास मंत्रि जयपाल रेड्डी ने बताया कि मेट्रो से जुड़ी कई कंपनियों और अधिकारियों के ख़िलाफ़ कार्रवाई हो रही है.

उल्लेखनीय है कि पिछले दो दिनों में मेट्रो की कई निर्माणाधीन लाइनों के खंभों में दरारों की शिकायतें भी सामने आई हैं और डीएमआरसी ने इसकी जांच के आदेश दिए हैं.

संसद में इस मुद्दे पर कई नेताओं ने सवाल उठाए. इन सवालों के जवाब देते हुए जयपाल रेड्डी ने रिपोर्ट पेश की और बताया कि जमरुदपुर लाइन का काम देख रहे गैमन इंडिया को कारण बताओ नोटिस जारी किया है कि क्यों न कंपनी को दो वर्षों के लिए ब्लैकलिस्ट कर दिया जाए.

रिपोर्ट के अनुसार डिजाइन कंसल्टेंट्स मेसर्स आर्च सर्विसेस को पाँच साल के लिए ब्लैकलिस्ट किया गया है.

इसके अलावा मेट्रो के ढांचे संबंधी सलाह देने वाले टंडन कंसल्टेंट्स पर भी दो साल का प्रतिबंध लगाया गया है क्योंकि कंपनी ने मेट्रो को सही सलाह नहीं दी थी.

डीएमआरसी से जुड़े तीन अधिकारियों पर भी कार्रवाई हुई है. डिजाईन और साइट निरीक्षण की ज़िम्मेदारी वाले वीपी श्रीवत्स और मुकेश ठाकोर को निलंबित किया गया है जबकि चीफ इंजीनियर डिजाईन के ख़िलाफ़ गंभीर पेनाल्टी चार्जशीट फाइल हो रही है.

इतना ही नहीं गैमन इंडिया को कारण बताओ नोटिस दिया गया है कि क्यों न उसे ब्लैकलिस्ट कर दिया जाए.

समाचार एजेंसियों के मुताबिक गैमन इंडिया ने कहा है कि वो नोटिस मिलने के बाद ही इस पर कोई प्रतिक्रिया दे सकेंगे.

मेट्रो का काम पिछले साल वर्षों से चल रहा है और किसी बड़े हादसे की यह दूसरी घटना है. इससे पहले पिछले साल पूर्वी दिल्ली के लक्ष्मीनगर के पास हुए हादसे में कुछ लोग घायल हुए थे.

जमरुदपुर में लोगों की मौत के बाद अब मेट्रो के काम पर सबकी नज़रें हैं लोग चाहते हैं कि इसके काम में सुरक्षा का पूरा ध्यान रखा जाए.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है