भूकंप के बाद सूनामी की चेतावनी वापस

जापान में भूकंप
Image caption जापान में भूकंप के कारण कुछ स्थानों पर नुक़सान हुआ

भारत के अंडमान द्वीप के आसपास मंगलवार सुबह भूंकप के ज़ोरदार झटके महसूस किए गए.

अमरीकी भूवैज्ञानिक सर्वे के अनुसार इस भूकंप की तीव्रता रिक्टर स्केल पर 7.6 मापी गई.

इसके बाद भारत, बर्मा, इंडोनेशिया और बांग्लादेश में सूनामी की चेतावनी जारी कर दी गई थी.

इसके बाद समुद्र पर कड़ी नज़र रखी गई और बाद में इसे रद्द कर दिया गया.

भारतीय द्वीप अंडमान के आसपास मंगलवार तड़के लगभग एक बजे भूकंप के ज़ोरदार झटके महसूस किये गए.

इस भूंकप का केंद्र हिंद महासागर में 20 किलोमीटर नीचे माना जा रहा है.

भारत के अन्य तटीय इलाक़ों में भी भूकंप के झटके महसूस किए गए.

आंध्र प्रदेश के बंदरगाह शहर विशाखापत्तनम में रहने वाली सना ख़ान ने बीबीसी को बताया, "मैं गहरी नींद में सो रही थी तभी अचानक लगा कि बिस्तर और खिड़की हिल रही है. इसके बाद सारे लोग झटपट सड़कों पर आ गए."

उन्होंने बताया कि भूकंप का झटका बहुत तेज़ नहीं था और आसपास कोई नुकसान नहीं हुआ.

जापान में राजधानी टोक्यो समेत कई शहरों में घरों को नुकसान पहुँचा है.

वहाँ एहतियाती तौर पर एक परमाणु बिजली संयंत्र को बंद कर दिया गया था.

उल्लेखनीय है कि 26 दिसंबर, 2004 को भूकंप के बाद आए सूनामी ने भारी तबाही मचाई थी और इसके कारण दो लाख से अधिक लोग मारे गए थे.

सूनामी के कारण भारत के दक्षिणी तटीय इलाक़ों के अलावा अंडमान द्वीप में भी भारी तबाही हुई थी.

संबंधित समाचार