नारियल तोड़ने की मशीन के लिए इनाम

  • 22 अगस्त 2009
नारियल का पेड़
Image caption हाल में मज़दूरों की कमी के कारण केरल में नारियल के उत्पादन में काफ़ी कमी आई है

केरल सरकार ने पेड़ों से नारियल तोड़ने की मशीन का आविष्कार करने वाले किसी भी व्यक्ति को 10 लाख रुपए का इनाम देने की घोषणा की है.

उसकी ये पेशकश दुनिया भर के लोगों के लिए है.

प्रदेश सरकार ने मज़दूरों की संख्या घटने के कारण नारियल की पैदावार में हो रही कमी से निबटने के लिए ये क़दम उठाया है.

केरल में नारियल तोड़ने का काम एक पारंपरिक पेशा रहा है लेकिन हाल के समय में बहुतेरे युवा इसके स्थान पर दूसरी नौकरियों को महत्व दे रहे हैं.

इस कारण केरल में वर्ष 2005 से 2008 के बीच नारियल की पैदावार छह अरब से घटकर 5 अरब 56 करोड़ हो गई है.

नारियल के पेड़ों से हर डेढ़ महीने में नारियलों को तोड़ना पड़ता है मगर हाल के समय में जिन लोगों के यहाँ नारियल के पेड़ हैं, उन्हें नारियल तोड़ने वाले लोग नहीं मिल पा रहे हैं.

मशीन और इनाम

केरल के उद्योग विभाग ने नारियल तोड़ने की मशीन के लिए इनाम की घोषणा करते हुए बताया है कि ये मशीन ऐसी होनी चाहिए जिसकी पहुँच 30 मीटर की ऊँचाई तक हो.

साथ ही ये मशीन सस्ती और ऐसी होनी चाहिए जिससे कि आसानी से एक स्थान से दूसरे स्थान पर ले जाया जा सके.

केरल के उद्योग मंत्री एलामाराम करीम ने कहा कि अभी जो मशीनें हैं उनकी पहुँच सामान्य वृक्षों तक है और ये मशीनें नारियल तोड़ने के लिए कारगर नहीं हैं.

उन्होंने कहा, "जो भी व्यक्ति कोई नई मशीन बनाना चाहता है उसे इसका डिज़ाइन जमा करना होगा और यदि उसे स्वीकार कर लिया जाता है तो इस मशीन के विकास के लिए दस लाख रुपए दिए जाएँगे. "

केरल के उद्योग मंत्री ने कहा कि ऐसी कोई भी मशीन बेहद लोकप्रिय होगी क्योंकि इसकी माँग बहुत अधिक होगी.

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है