मानव रक्त का अवैध व्यापार

  • 26 अगस्त 2009
Image caption लखनऊ में रक्त का अवैध व्यापार !

उत्तर प्रदेश की राजधानी लखनऊ में पुलिस ने मानव ख़ून का अवैध व्यापार करने के आरोप में छह लोगों को हिरासत में लिया गया है.

इन लोगों में मेडिकल कॉलेज के एक सेवानिवृत प्रयोगशाला सहायक के तीन बेटे भी हैं.

शनिवार को हिरासत में लिए गए इन लोगों को रविवार को जेल भेज दिया गया है.

पुलिस ने 35 यूनिट ख़ून को ज़ब्त करने की बात भी कही है. बताया जा रहा है कि हिरासत में लिए गए लोग अस्पताल के ट्रॉमा सेंटर ज़रूरतमंद लोगों ख़ून बेचते थे.

सामान्य रुप से सरकारी अस्पताल में मरीजों को उनके दोस्तों या रिश्तेदारों द्वारा दिये गए ख़ून के एवज़ में ख़ून दिया जाता है. पर समय बचाने के फेर में लोग इन लोगों से ख़ून खरीदा करते थे.

अदालत के आदेश के बाद संबंधित अधिकारीयों ने ज़ब्त किए गए ख़ून के नमूने जाँच के लिए पीजीआई भेज दिये हैं. पुलिस ने ख़ून के नमूने फोरेंसिक प्रयोगशाला में भी भेजे हैं.

पुलिस का आरोप है कि अवैध ख़ून का ये कारोबार गए तीन वर्षों से चल रहा था. ऐसा माना जा रहा है कि ये ख़ून पेशेवर रक्तदाताओं से लिया गया है.

पुलिस को ख़ून में मिलावट का भी शक है.

संबंधित समाचार