एसएमएस ने पहुंचाया घटनास्थल तक

राजशेखर रेड्डी
Image caption राजशेखर रेड्डी ने हाल ही में आंध्र प्रदेश में कांग्रेस को दूसरी बार जीत दिलवाई थी

आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री राजशेखर रेड्डी के बुधवार की सुबह लापता हुए हेलिकॉप्टर को खोजने और उस तक पहुँचने में जिस एक चीज़ ने अधिकारियों की सबसे ज़्यादा मदद की, वो एक एसएमएस था.

बुधवार की सुबह साढ़े नौ बजे के क़रीब आंध्र प्रदेश के मुख्यमंत्री वाईएस राजशेखर रेड्डी और उनके साथ दो चालकों, दो अधिकारियों को ले जा रहे हेलिकॉप्टर से संपर्क टूट गया था.

इसके बाद लगातार खोजबीन का काम चलता रहा और 24 घंटे से भी ज़्यादा वक़्त बीत जाने के बाद ही विमान तक पहुँचा जा सका.

जिस इलाके में हेलिकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हुआ था, वो इलाका दुर्गम था. किसी भी तरह से हेलिकॉप्टर में मौजूद लोगों से संपर्क नहीं हो पा रहा था. घटनास्थल को जान पाना और वहां तक पहुंच पाना कठिन हो गया था.

ऐसे में एक एसएमएस ने अधिकारियों की घटनास्थल को खोजने में खासी मदद की.

एसएमएस की मदद

अधिकारियों ने गुरुवार को बताया कि हेलिकॉप्टर के लापता होने के बाद लगभग साढ़े 12 बजे एक एसएमएस मुख्यमंत्री के सुरक्षा अधिकारी के मोबाइल पर रिसीव हुआ.

सुरक्षा अधिकारी जॉन वेस्ली भी उसी हेलीकॉप्टर में मौजूद थे. इसी एसएमएस को ट्रेस करके अधिकारियों ने उस स्थान का पता लगाने की कोशिश की जहां पर एसएमएस रिसीव हुआ था.

अधिकारियों के मुताबिक इस तरह यह अनुमान लगाया जा सका कि किस इलाके में हेलिकॉप्टर हो सकता है. इसी के आधार पर एक छोटे क्षेत्र को चिन्हित करके सघन तलाशी अभियान छेड़ा गया.

हालांकि अधिकारियों ने यह जानकारी देने से मना कर दिया कि इस एसएमएस में क्या लिखा था और यह एसएमएस किसका था. पर इतना ज़रूर बताया कि यह एसएमएस एक महत्वपूर्ण कड़ी साबित हुआ और हेलिकॉप्टर का पता लगाया जा सका.

गुरुवार को सुबह तलाशी अभियान में लगी वायु सेना को दुर्घटनाग्रस्त हेलिकॉप्टर का मलबा मिला.

दुर्घटना में मुख्यमंत्री राजशेखर रेड्डी के अलावा उनके प्रधान सचिव पी सुब्रह्मण्यम, मुख्य सुरक्षा अधिकारी एएससी जॉन वेस्ली, मुख्य पायलट एसके भाटिया और सहायक पायलट एमएस रेड्डी की भी मौत हो गई.

राजशेखर रेड्डी का शव शाम को हैदराबाद लाया गया है. अंतिम संस्कार शुक्रवार को उनके गृहग्राम में राजकीय सम्मान के साथ किया जाएगा.

संबंधित समाचार

संबंधित इंटरनेट लिंक

बीबीसी बाहरी इंटरनेट साइट की सामग्री के लिए ज़िम्मेदार नहीं है