भाजपा विधायकों ने इस्तीफ़े दिए

रघुबर दास
Image caption विधायकों ने पार्टी अध्यक्ष को इस्तीफ़े सौंपे हैं

झारखंड में भारतीय जनता पार्टी के सभी 22 विधायकों ने अपने इस्तीफ़े प्रदेश पार्टी अध्यक्ष रघुबर दास को सौंप दिए हैं.

राँची में भाजपा विधायक दल की बैठक में यह फ़ैसला किया गया. भाजपा विधायक निलंबित विधानसभा को भंग करके चुनाव कराने की मांग कर रहे हैं.

शिबू सोरेन के इस्तीफ़े के बाद से राज्य में राष्ट्रपति शासन लागू है क्योंकि कोई भी पार्टी का गठबंधन सरकार बनाने के लिए सामने नहीं आया है.

भाजपा प्रवक्ता संजय सेठ ने आरोप लगाया है कि कांग्रेस पिछले दरवाज़े से राज्य में शासन कर रही है. जबकि कांग्रेस के अभिषेक मनु सिंघवी का कहना है कि राष्ट्रीय खेल और पर्व-त्यौहार के कारण चुनाव नहीं कराए जा रहे हैं.

तर्क

लेकिन भाजपा का तर्क है कि जिन राज्यों में अक्तूबर में चुनाव होने हैं, वहाँ पर्व-त्यौहार की बात क्यों नहीं की जा रही है.

विधायक दल की बैठक में यह भी फ़ैसला हुआ कि इस मामले में पार्टी का संसदीय बोर्ड ये तय करेगा कि किस दिन झारखंड विधानसभा अध्यक्ष आलमगीर आलम के सामने विधायकों को हाज़िर किया जाए और बारी-बारी से उनके इस्तीफ़े सौंपे जाए.

संसदीय बोर्ड की बैठक सोमवार को दिल्ली में होगी. सोमवार को ये भी तय होगा कि पार्टी इस बारे में सुप्रीम कोर्ट में कब याचिका दायर करेगी.

इस समय 81 सदस्यीय झारखंड विधानसभा में सिर्फ़ 64 विधायक ही हैं. इनमें भारतीय जनता पार्टी के सबसे ज़्यादा 22 विधायक हैं. झारखंड मुक्ति मोर्चा के 17, कांग्रेस के नौ और राष्ट्रीय जनता दल के पाँच विधायक हैं.

संबंधित समाचार