मुठभेड़ में दो चरमपंथियों की मौत

  • 9 सितंबर 2009
कश्मीर
Image caption घुसपैठ में तेज़ी आई है.

जम्मू-कश्मीर के पूंछ ज़िले में नियंत्रण रेखा के पास मंगलवार रात हुई एक मुठभेड़ में दो चरमपंथियों और सेना के एक मेजर की मौत हो गई है.

भारतीय फ़ौज के एक अधिकारी ब्रिगेडियर गुरदीप सिंह ने बीबीसी को बताया कि चरमपंथियों का एक दल पाकिस्तानी सीमा से मेंधर सेक्टर की तरफ़ भारत में प्रवेश करने की कोशिश कर रहा था.

ब्रिगेडियर सिंह का कहना था, “हमारी फ़ौज की जब घुसपैठियों पर नज़र पड़ी तो हमने उन्हें ललकारा जिसके जवाब में उन्होंने गोलियां चलानी शुरू कर दीं. मुठभेड़ में दो आतंकवादी समेत सेना के मेजर की भी मौत हो गई.’’

उनका कहना था कि भारतीय फ़ौज उस इलाके में बाकी बचे “ज़िदा या मुर्दा’’ घुसपैठियों की तलाश कर रही है. फ़ौज को शक है कि इस दल में और भी चरमपंथी थे जो भारत में घुसने की कोशिश कर रहे थे.

जम्मू-कश्मीर में सुरक्षा बलों का कहना है कि पाकिस्तानी सीमा से भारत में घुसपैठ करनेवाले चरमपंथियों पर काबू पाया गया है लेकिन पिछले साल के मुक़ाबले ये तादाद बढ़ी है.

उनका कहना है कि पाकिस्तान की तरफ़ से चरमपंथियों की मदद जारी है और उन्हें भारत में प्रवेश करने में भी मदद मिल रही है.

इसी महीने की शुरूआत में उत्तरी कश्मीर के गुरेज़ इलाक़े में पांच चरमपंथी घुसपैठ करने की कोशिश में मारे गए थे.

नॉर्दर्न कमांड के वरिष्ठ अधिकारी, लेफ़्टिनेंट जनरल पी सी भारद्वाज ने हाल ही में पत्रकारों को बताया था कि अब तक कम से कम 70 चरमपंथी भारत में घुसपैठ कर चुके हैं. पिछले साल ये संख्या केवल 45 थी.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार