शोपियां मामले की सीबीआई जांच

  • 9 सितंबर 2009
शोपियां मे प्रदर्शन

भारत प्रशासित कश्मीर के शोपियां में कुछ अरसा पहले दो लड़कियों की बलात्कार और हत्या की सीबीआई जांच के आदेश दे दिए गए हैं.

राज्य सरकार ने अधिसूचना जारी कर इस मामले की जांच सीबीआई को सौंपने की घोषणा की है.

इस मामले में पिछले कई दिनों से विरोध प्रदर्शन हो रहे थे और अब विरोध प्रदर्शनों की अगुआई कर रहे मजलिस-ए-मुशावरत के एक कार्यकर्ता का शव मिला था जिसके बाद कश्मीर में बुधवार को बंद घोषित कर दिया गया था.

मई महीने में शोपियां में दो महिलाओं की लाशें मिली थीं और जांच के बाद पता चला था कि दोनों के साथ बलात्कार हुआ है. विरोध प्रदर्शनों के बाद पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई हुई और जांच गठित हुई. जांच के दौरान कई तरह की बातें सामने आई और पूरा मामला उलझ गया.

अब इस मामले में चले विरोध प्रदर्शनों में सबसे आगे रहने वाले मोहम्मद हुसैन ज़रगर का शव मिला है और पूरे इलाके में तनाव पैदा हो गया है.

स्थिति यह है कि शोपियां में आम जनजीवन थम गया है. इस हत्या के विरोध में मजलिस-ए-मुशावरत ने आम हड़ताल का आहवान किया है.

पुलिस का कहना है कि 42 वर्षीय ज़रगर शनिवार की सुबह अपने घर से निकले थे और उसके बाद से उनका कोई पता नही चल सका था.

शनिवार को निकले ज़रगर अपने घर ज़िंदा नहीं लौटे. उनका शव मंगलवार की शाम को मिला है. स्थानीय लोगों का मानना है कि उनकी हत्या में उन लोगों का हाथ है जो पिछले दिनों दो महिलाओं के बलात्कार और हत्या के ज़िम्मेदार हैं.

बढ़ता तनाव

ज़रगर ने दो महिलाओं के बलात्कार और हत्या के मामले में न्याय दिलवाने के लिए मुहिम छेड़ रखी थी. उन्होंने कहा था कि वो आखिर तक यह लड़ाई लड़ेंगे और ज़रूरत पड़ी तो अपनी ज़मीन तक बेच देंगे.

लोगों में गुस्सा इस बात से और ज़्यादा भड़का हुआ है कि उनका शव मिलने से कुछ घंटे पहले ही शोपियां के नज़दीक मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला ने एक जनसभा में कहा था कि जब तक दोनों महिलाओं के बलात्कार और हत्या मामले मे इंसाफ नहीं होता वो आराम से नही बैठेंगें.

इस मामले में चार पुलिस अधिकारी गिरफ़्तार हुए थे जिनमें ज़िला पुलिस प्रमुख जावेद इक़बाल मट्टू भी शामिल थे. इन्हें हाईकोर्ट के आदेश पर ग़िरफ्तार किया गया था, उन पर आरोप है कि उन्होंने इस मामले में सबूतों के साथ छेड़छाड़ की थी.

इस मामले को लेकर शोपियां में लगातार 47 दिन तक बंद रहा था. ये बंद हाईकोर्ट के दखल और अपील के बाद समाप्त हुआ था.

संबंधित समाचार