हथियारों वाले विमान पर खेद जताया

  • 9 सितंबर 2009
संयुक्त अरब अमीरात का विमान सी-130
Image caption विमान कोलकाता हवाईअड्डे पर खड़ा हुआ है

कोलकाता में अवैध रुप से हथियार लदे होने के कारण रोके गए मालवाहक जहाज़ को लेकर संयुक्त राष्ट्र अमीरात (यूएई) के भारत स्थित दूतावास और आबूधाबी के अधिकारियों ने खेद प्रकट किया है.

इसके बाद भारत सरकार की ओर से कहा गया है कि भारत और यूएई के रिश्तों को देखते हुए इस विमान को जल्द ही छोड़ दिया जाएगा.

उल्लेखनीय है कि सोमवार को कोलकाता में संयुक्त अरब अमीरात के एक मालवाहक विमान को हथियारों, गोलाबारूद और विस्फोटक सामग्री का ज़खीरा लदा होने की वजह से रोक लिया गया था.

आबूधाबी से आ रहा यह विमान चीन के हैनयांग की उड़ान पर था.

विमान ने कोलकाता के सुभाष चंद्र बोस हवाईअड्डे पर ईंधन भरने के लिए उतरने की अनुमति तो ले ली थी लेकिन यह घोषित नहीं किया था कि इस विमान में हथियार आदि लदे हुए हैं.

भारत के विदेश मंत्रालय के बयान के अनुसार विमान के कैप्टन मेजर इब्राहिम अलशमसेई ने जो कस्टम विभाग को जो पत्र सौंपा उसमें लिखा हुआ था कि विमान में हथियार और विस्फोटक सामग्री है.

पहले ली गई अनुमति और बाद में प्रस्तुत घोषणा पत्र में अंतर होने के कारण अधिकारियों ने विमान की जाँच की और फिर इस विमान को रोक लिया था.

हालांकि चालक दल के सदस्यों को हिरासत में नहीं लिया गया था.

विदेश मंत्रालय के बयान के मुताबिक़ यूएई दूतावास से इस संबंध में स्पष्टीकरण मांगा गया था और दूतावास और आबूधाबी के अधिकारियों ने खेद जताते हुए कहा है कि पहले ली गई अनुमति 'तकनीकी त्रुटि की वजह से' हथियारों का ज़िक्र छूट गया था.

विदेश मंत्रालय ने कहा है कि यूएई के इस स्पष्टीकरण के बाद इस मसले को सुलझा लिया जाएगा और दोनों देशों के बीच मैत्रीपूर्ण संबंधों को ध्यान में रखते हुए इस विमान को जल्द ही छोड़ दिया जाएगा.

संबंधित समाचार