तीन दिन चली मुठभेड़ ख़त्म, आठ शव मिले

नक्सली (फ़ाइल)

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा ज़िले से क़रीब 150 किलोमीटर की दूरी पर पुलिस और नक्सलियों के बीच पिछले तीन दिनों से जारी मुठभेड़ ख़त्म हो गई है.

पुलिस अधिकारियों ने बीबीसी को बताया है कि अभी तक आठ शव बरामद किए गए हैं. एक सुरक्षाकर्मी की भी इस मुठभेड़ में मौत हो गई है.

छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा क्षेत्र के आईजी आरके विज ने बीबीसी को बताया कि यह मुठभेड़ पुलिस को मिली खुफ़िया जानकारी के आधार पर हुई है. इसमें नक्सलियों का काफी नुकसान हुआ है.

उन्होंने बताया कि दंतेवाड़ा मुख्यालय से क़रीब 150 किलोमीटर के फ़ासले पर किस्ताराम और चिंतरगुफ़ा पुलिस स्टेशन के बीच किसी अज्ञात जगह पर नक्सलियों के मौजूद होने की ख़बर मिली थी.

बताया गया था कि इस जगह पर नक्सली लड़ाके कुछ हथियार तैयार करने का काम कर रहे हैं. इसी जानकारी के आधार पर एक ऑपरेशन की रुपरेखा बनाई गई और इनके साथ बुधवार को मुठभेड़ शुरू हुई.

उन्होंने बताया कि तीन दिन तक चली इस मुठभेड़ में कम से कम सात नक्सली हमलावर मारे गए हैं.

ऑपरेशन और नुकसान

हालांकि अभी आधिकारिक तौर पर इस ऑपरेशन में पुलिस और सीआरपीएफ़ को हुए नुकसान के बारे में कुछ नहीं कहा गया है. जानकारी दी गई है कि मनोरंजन सिंह नाम का एक जवान इस मुठभेड़ में मारा गया है.

वहीं स्थानीय पत्रकारों ने बताया है कि पुलिस को अभी भी अपने पांच साथियों की तलाश है और उनके बारे में कोई जानकारी नहीं मिल पा रही है.

पुलिस ने कोबरा फ़ोर्स की अगुआई में इस ऑपरेशन की शुरुआत की थी. पुलिस ने बताया कि पहले नक्सलियों की ओर से गोली चलनी शुरू हुई. जवाबी कार्रवाई में पुलिस ने भी गोलीबारी की.

इस दौरान पुलिस ने हथियारों का भंडार बरामद किया है. इनमें स्वचालित राइफ़ल, ग्रेनेड शामिल हैं.

संबंधित समाचार