भारत ने सुरक्षा का आश्वासन दिया

  • 25 सितंबर 2009
 निर्माणाधीन स्टेडियम
Image caption भारत में खेलों की तैयारी ज़ोरों पर है.

भारत ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय को भरोसा दिलाया है कि अगले साल होने वाले राष्ट्रमंडल खेलों के दौरान किसी भी चरमपंथी हमले से निपटने के लिए सुरक्षा के पुख़्ता इंतज़ाम किए जाएंगे.

इस सिलसिले में गुरुवार को नई दिल्ली में विस्तृत बैठक हुई. इसमें खेलों में भाग लेने वाले 71 देशों में से 26 देशों के सुरक्षा विशेषज्ञ भी शामिल हुए.

बैठक में भारतीय गृह सचिव जीके पिल्लई ने आयोजन स्थलों और खिलाड़ियों की सुरक्षा के लिए उठाए जा रहे क़दमों के बारे में पूरी जानकारी दी.

बाद में उन्होंने पत्रकारों के सवालों के जवाब में कहा कि अभी तक खेलों पर चरमपंथी ख़तरे की कोई सूचना नहीं है.

जीके पिल्लई ने बताया कि खेल शुरु होने से एक या दो हफ़्ते पहले ही आयोजन स्थलों और खेल गाँव को सील कर दिया जाएगा.

उन्होंने बैठक में कहा, "आयोजन समिति, खेल मंत्रालय और भारत सरकार की ओर से हम सभी को ये कहना चाहते हैं कि राष्ट्रमंडल खेलों की सुरक्षा को लेकर हम पूरी तरह कृतसंकल्प हैं."

गृह सचिव ने कहा कि लगभग एक पखवाड़े तक चलने वाले खेलों के दौरान तीस से ज़्यादा देशों के शीर्ष नेता भारत आएंगे और उनकी सुरक्षा के विशेष इंतज़ाम किए जाएंगे.

खेल शुरु होने से पहले इस तरह की पाँच बैठकें और होंगी जिनमें सुरक्षा से जुड़े पहलुओं पर चर्चा की जाएगी.

संबंधित समाचार