हिन्दू तीर्थ यात्री गिरफ़्तार

महिलाएं ( फाइल फोटो)
Image caption राजस्थान के अजमेर में पाकिस्तान के हिंदू और मुसलमान दोनों ही तीर्थ यात्रा के लिए आते हैं.

पाकिस्तान से आए 66 हिन्दू तीर्थ यात्रियों को राजस्थान में अजमेर पुलिस ने वीसा नियमों के उल्लंघन के आरोप में अपनी निगरानी में ले लिया है.

इनमें 28 महिलाएं भी शामिल हैं. इन पाकिस्तानी यात्रियों को उस वकत निगरानी में लिया गया जब वे सोमवार रात हिन्दू तीर्थ स्थल पुष्कर में ब्रह्मा मंदिर में दर्शन के लिए दाखिल हुए.

इन यात्रियों को दिल्ली, हरिद्वार, शिर्डी, मथुरा और जोधपुर की अनुमति तो थी, लेकिन पुष्कर जाने की इजाज़त नहीं थी.

अजमेर पुलिस ने जांच पड़ताल के बाद इन सभी के पासपोर्ट और यात्रा दस्तावेज अपने पास रख लिए है.

इन यात्रियों का कहना था कि ट्रेवल एजेंट उन्हें दिल्ली ले जाते समय पुष्कर ले आया और वो भी आस्था के वशीभूत चले आए.

अधिकारियों का कहना है कि वो इन यात्रियों पर निगरानी रखे हुए हैं और इस बारे में सरकार के निर्देशों का इंतज़ार कर रहे है. इन पाकिस्तानी यात्रियों ने गत 25 सितंबर को मुनाबाओ के रास्ते भारत का रुख किया था और एक ट्रेवल एजेंट के जरिए भारत के धार्मिक स्थलों के दर्शन का कार्यक्रम बनाया था.

इन पाकिस्तानी यात्रियों का कहना था कि उनकी ये भारत में चौथी धार्मिक यात्रा है. चूँकि हिन्दुओं के लिए सबसे पवित्र स्थान भारत में है, लिहाजा हर पाकिस्तानी हिन्दू हरिद्वार जैसे सथानो की यात्रा करना चाहता है.

लेकिन जब गुप्तचर पुलिस को शक हुआ और जांच की गई तो पता चला कि इन पाकिस्तानी यात्रियों के पास पुष्कर आने की अनुमति नहीं थी.

पुलिस अभी इनके विरूद्व वीसा नियमो के उलंघन की ही जांच कर रही है. एक पुलिस अधिकारी ने बताया कि ज़्यादतर लोग गरीब परिवारों से है.

इस धार्मिक यात्रा समूह में शामिल लोग पाकिस्तान के सूबा सिंध के कराची, हैदराबाद,इ सलाम कोट, मीठी, मीरपुर खास और नवा कोट के है. पाकिस्तान के ये नागरिक क़रीब एक माह के लिए भारत आए थे.

पुलिस का कहना है की इन पाकिस्तानी हिन्दुओं की मंशा ग़लत नहीं थी लेकिन वीसा नियमो का ज़रूर उलंघन हुआ है.

भारत में अजमेर मुसलमान और हिन्दू दोनों तीर्थ यात्रियों के लिए पवित्र माना जाता है.

अजमेर में सूफी संत खवाजा मोईनुद्दीन चिश्ती की दरगाह जहाँ दुनिया भर के मुस्लिम अकीदतमन्दो को आकर्षित करती है तो पुष्कर हिन्दुओं का प्रमुख तीर्थ है. इससे पहले कई पाकिस्तानी नागरिक अजमेर बिना अनुमति के जियारत करने आते वक्त पकड़े जा चुके है.

संबंधित समाचार