नाव दुर्घटनाः अबतक 56 शव मिले

नाव
Image caption बागमती की तेज़ धारा में नाव पलट गई.

बिहार के खगड़िया ज़िले में अलौली के पास बागमती नदी में सोमवार को हुई नाव दुर्घटना में मृतकों की तादाद अब 56 हो गई है और इसके उपर जाने की भी आशंका है.

बुधवार की सुबह एक स्थानीय अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि दो अलग अलग जगहों से नदी में शवों की बरामदगी हुई है.

जानकारी के मुताबिक मृतकों में अधिकतर महिलाएं और बच्चे हैं.

नाव दुर्घटना

खगड़िया के जिलाधिकारी के मुताबिक दुर्घटना के वक़्त नाव पर लगभग 100 लोग सवार थे. बागमती नदी में ये नाव अचानक तेज़ हवा के झोंके से डगमगाई और उलट गई.

नाव पर क्षमता से ज़्यादा लोग सवार हो गए थे. ये लोग विजयादशमी के मौके पर मेला देख कर वापस लौट रहे थे.

हादसे के बाद जिलाधिकारी ने बताया था कि लगभग 30 लोग तैर कर बाहर निकलने में कामयाब रहे जबकि बाकी लोग लापता हैं.

फूलतोरा घाट के ठेकेदार जर्मन मुखिया ने घटना के बारे में बीबीसी को बताया, 'आंधी आ जाने से नाव डगमगाने लगी तो तीस- पैंतीस पुरुष नदी में तैर कर बच निकले. लेकिन सौ के क़रीब औरतें और बच्चे थे वे शोर मचाते हुए नाव के एक तरफ जमा हो गए जिससे नाव पलट गई.'

मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हरेक मृतक व्यक्ति के निकट संबंधी को डेढ़ लाख रूपए का मुआवजा देने की घोषणा की है पर लोक जनशक्ति पार्टी ने आरोप लगाया है कि जहां दुर्घटना हुई वहां तीन साल पहले ही पुल बनाने की घोषणा की गई थी लेकिन अभी तक नहीं बन पाया.

स्थानीय लोगों में घटना के बाद से दुख और रोष व्याप्त है. स्थिति को देखते हुए आरजेडी नेता लालू प्रसाद और लोकजनशक्ति पार्टी के प्रमुख रामविलास पासवान भी प्रभावितों के परिजनों के पहुंचे.

राजद नेता लालू प्रसाद ने प्रत्येक मृतक के परिवार के एक सदस्य को नौकरी और दस लाख रुपए मुआवजा देने की मांग की.

संबंधित समाचार