बारिश से 125 लोगों की मौत

  • 2 अक्तूबर 2009

कर्नाटक और आंध्रप्रदेश में भारी बारिश के कारण 125 लोगों की मौत हो चुकी है. कर्नाटक सबसे ज़्यादा प्रभावित हुआ है. वहाँ 11 ज़िले पूरी तरह पानी में डूबे हुए हैं.

आंध्रप्रदेश से बीबीसी संवाददाता उमर फ़ारुक़ ने बताया है कि चेतावनी दी गई है कि विजयवाड़ा इलाक़े में शनिवार को हालात बिगड़ने की आशंका है और बाढ़ आ सकती है. पुलिस को आदेश दिए गए हैं कि नीचले इलाक़ों से लोगों को हटने के लिए कहा जाए और अगर लोग सहयोग न करें तो उन्हें ज़बरदस्ती हटाया जाए. करीब दो लाख लोगों को घर छोड़कर जाना होगा.

आंध्रप्रदेश के मुख्यमंत्री ने प्रधानमंत्री और सोनिया गांधी से बात की है और शनिवार को दोनों में से कोई एक प्रदेश का दौरा करेगा.

वहीं कर्नाटक में पुलिस ने कहा है कि ज़्यादातर मृतक या तो पानी में बह गए हैं या घर ढहने से उनकी मौत हो गई.

सैकड़ों लोग अब भी कई जगह फँसे हुए हैं. राज्य सरकार ने शुक्रवार को अपील की थी कि राहत कार्य में मदद के लिए सेना के हेलिकॉप्टर भेजे जाएँ.

ग़ैर आधिकारिक अनुमानों के मुताबिक मृतकों की संख्या 90 है. बिजापुर, बीदर, रायचुर और गदाग ज़िले सबसे ज़्यादा प्रभावति हुए हैं.

तीर्थ नगरी मंत्रालया में सैकड़ों तीर्थयात्री फँसे हुए हैं. आपात बैठक के बाद मुख्यमंत्री बीएस येदियुरप्पा ने कहा, "स्थिति गंभीर है. हमने भारतीय वायु सेना से हेलिकॉप्टरों की माँग की है."

बचाव कार्य में सहयोग देने के लिए मदरास इंजीनियरिंग ग्रुप से नाव बुलाई गई हैं. ये सेना का एक विशेष विंग है.

भारी बारिश के कारण करीब 22500 मकानों को नुकसान पहुँचा है. मौसम विशेषज्ञों का कहना है कि ये बारिश बंगाल की खाड़ी में तूफ़ान के कारण आई है.

फसलों को नुकसान

अधिकारियों का कहना है कि लगातार हो रही बारिश से फसलों को नुकसान पहुँचा है और सूचना तंत्र भी टूट गया है. कर्नाटक और आँधप्रदेश के बीच यातायात भी बाधित हुआ है.

विपक्ष ने सत्ताधारी भारतीय जनता पार्टी की आलोचना की है और कहा है कि प्रभावित इलाक़ों तक राहत नहीं नहीं पहुँचाई गई है.

जब बारिश का दौर शुरु हुआ था तो कैबिनेट का तीन दिन का कैंप चल रहा था. ये कैंप गुरुवार को ख़त्म हुआ है.

पूर्व मुख्यमंत्री एचडी कुमारस्वामी ने कहा, "इतने लोग मर रहे हैं, बाढ़ में मवेशी भी मर गए, फसलें बर्बाद हो गई हैं. लेकिन भाजपा सरकार कैंप कर रहे हैं जहाँ सिखाया जा रहा है कि सुशासन कैसे किया जाए."

लेकिन मुख्यमंत्री येदियुरप्पा ने इन आरोपों से इनकार किया है और कहा है कि राहत पहुँचाने के लिए अधिकारी काम कर रहे हैं.

संबंधित समाचार