राज ठाकरे का मतलब कांग्रेस: उद्धव

  • 5 अक्तूबर 2009
Image caption बाल ठाकरे ने उद्धव ठाकरे को गठबंधन का मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित किया है

शिव सेना के कार्यकारी अध्यक्ष उद्धव ठाकरे ने कहा है कि उनके चचेरे भाई और महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना के प्रमुख राज ठाकरे बेनक़ाब हो गए हैं और ये बात सामने आ गई है कि वे कांग्रेस के साथ हैं.

बीबीसी हिंदी के साथ एक बातचीत में उद्धव ठाकरे ने कहा कि राज ठाकरे के कारण कांग्रेस को पिछले लोकसभा चुनाव में फ़ायदा हुआ मगर इस बार उनकी ये नीति नहीं चलेगी.

पिछले लोकसभा चुनाव में मुंबई की सभी छह की छह लोकसभा सीटों पर शिव सेना को हार का मुँह देखना पड़ा था और इसके लिए चुनाव में राज ठाकरे की पार्टी को ज़िम्मेदार माना गया जिन्हें अच्छे वोट मिले.

उद्धव ठाकरे ने कहा,"लोग एक बार भूल-भुलैया में फँस सकते हैं, बार-बार नहीं. कांग्रेस की नीति रही है कि तोड़ो-फोड़ो और राज करो. लोकसभा चुनाव में ये नीति चल गई, मगर अब नहीं चलेगी".

उन्होंने कहा,"अब ये बात साफ़ हो चुकी है कि राज ठाकरे को वोट देने का मतलब है कांग्रेस को वोट देना".

महाराष्ट्र में 13 अक्तूबर को होनेवाले विधानसभा चुनाव को स्थानीय मीडिया उद्धव ठाकरे और राज ठाकरे का मुक़ाबला बता रहा है और दोनों ही नेता एक-दूसरे पर प्रहार कर रहे हैं.

लेकिन सत्ताधारी कांग्रेस-एनसीपी गठबंधन को पूरी उम्मीद है कि जीत उनकी ही होगी.

विश्लेषकों के अनुसार सत्ताधारी गठबंधन के इस आत्मविश्वास का कारण उनकी उपलब्धियों से अधिक मुख्य विपक्षी दल शिव सेना को राज ठाकरे से मिल रही चुनौती है.

महाराष्ट्र में विधान सभा की कुल 288 सीटें हैं. चुनाव में सत्ताधारी गठबंधन को शिव सेना और भारतीय जनता पार्टी का गठबंधन चुनौती दे रहा है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार