चुनाव परिणामः सवाल आपके, जवाब हमारे

बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी. बीबीसी हिंदी की विशेष लाइव कमेंटरी.
यह अपने आप अपडेट होता रहेगा.

ताज़ा पेज देखें

तीन राज्यों के लिए मतगणना शुरू गुरुवार को की गई.पाठकों ने नतीजों से जुड़े कई सवाल भेजे जिनका जवाब बीबीसी संवाददाताओं की टीम ने दिया.

अपने सवालों के जवाब आप नीचे पढ़ सकते हैं:

पहला सवाल है रईस अहमद का जो जानना चाहते हैं कि जाति और धर्म पर आधारित मतदान का सिलसिला क्या कभी ख़त्म हो पाएगा...मतदाताओं की सोच बदलने के लिए क्या तरीक़ा अपनाया जाना चाहिए.

इसका जवाब दे रहे हैं बीबीसी हिंदी प्रमुख अमित बरुआः मुझे फ़िलहाल तो मुश्किल लगता है. यह हमारी धारणाएँ बहुत पहले से बनी हुई हैं और इनका बदलना कोई बहुत आसान काम नहीं है. लेकिन प्रयत्न जारी रहने चाहिए और सभी प्रत्याशियों और राजनीतिक दलों को यह कोशिश करनी चाहिए कि इन मुद्दों से ऊपर उठ कर देश के बारे में सोचें.

प्रशांत किशोरः महाराष्ट्र में कोई भी जीते क्या वहां क्षेत्रीय घृणा की राजनीति बदलेगी?

अविनाश दत्त (बीबीसी से) : इससे आपका क्या मतलब है यह बहुत स्पष्ट नहीं है. अगर आप जाति, धर्म, संप्रदाय, इस तरह के मुद्दों की बात कर रहे है तो यह राजनीति के डीएनए में हमेशा से थे और रहेंगे क्योंकि यह मूल मानवीय स्वभाव का हिस्सा हैं.

अज्ञातः अगर शिवसेना बेहतर स्थिति में आती है तो क्या एनसीपी कॉंग्रेस का साथ छोड़ देगी?

अमित बरुआ (बीबीसी से): नहीं, मुझे ऐसी संभावना नज़र नहीं आती.

तशहीर अहमद उस्मानीः अबू आसिम आज़मी किस पोज़ीशन में चल रहे हैं...

अविनाश दत्त (बीबीसी से) : अबू आसिम आज़मी के बारे में ख़बर है कि वह अभी तक आगे चल रहे हैं.

पवनः आज सुबह जब महाराष्ट्र के आज़ाद उम्मीदवार भगवान से कुछ मांग रहे होंगे तो क्या वो त्रिशंकु विधानसभा मांगने के चक्कर में ख़ुद की जीत की प्रार्थना करना भूल गए होंगे?

हेमंत मिस्त्रीः महाराष्ट्र में मराठी मानुस का ध्रुवीकरण होगा या नहीं.

अविनाश दत्त (बीबीसी से) : जैसे परिणाम आते दिख रहे हैं मराठी मानुस ने बहुत तोलमोल कर वोटिंग की है जहाँ शिवसेना, भाजपा मज़बूत थीं वहाँ वोट शिवसेना को दिया है और जहाँ मनसे उन्हें मज़बूत दिखी वहाँ उसका साथ दिया.

विनीत खरे (बीबीसी सेः हरियाणा की ताज़ा स्थिति पर) : हरियाणा में कांग्रेस के लिए स्थिति आसान नहीं लग रही है, हालांकि गढ़ी सांपला किलोई से भूपिंदर सिंह हुड्डा अच्छे खासे मतों से आगे चल रहे हैं. उचाना से पूर्व मुख्यमंत्री ओमप्रकाश चौटाला पीछे चल रहे हैं जबकि वो अपने दूसरे चुनाव क्षेत्र से मामूली रूप से आगे चल रहे हैं. डबवाली से ओमप्रकाश चौटाला के पुत्र और आईएनएलडी महासचिव अजय चौटाला पीछे चल रहे हैं. आदमपुर से हरियाणा जनहित कांग्रेस के कुलदीप बिश्नोई आगे चल रहे हैं.

हरियाणा में भाजपा को पिछली बार मात्र दो सीटें मिली थी, लेकिन इस बारे जैसे रुझान आ रहे हैं, पार्टी छह सीटों पर आगे चल रही है. राज्य में भाजपा नेताओं का कहना है कि वो पार्टी को राज्य में खड़ा करने की कोशिश कर रहे हैं.

भारतीय जनता पार्टी नेता मुख़्तार अब्बास नकवी ने विधानसभा चुनाव में पार्टी के ख़राब प्रदर्शन के लिए इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन को ज़िम्मेदार ठहराया है और उसकी वैधता पर सवाल उठाए हैं. उनका कहना है कि ‘इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन कांग्रेस पार्टी के लिए इलेक्ट्रॉनिक विक्टरी मशीन बनती जा रही है और इस पर बहुत तरह से सवाल उठाए गए हैं.’

संदीप चौहानः हरियाणा के रूदौर में कौन आगे चल रहे है.

विनीत खरे (बीबीसी से) : रुदौर में भारतीय राष्ट्रीय लोकदल के डॉक्टर बिशनलाल सैनी 728 वोटों से आगे हैं.

अमितः हरियाणा के असांध में कौन आगे चल रहा है...

विनीत खरे (बीबीसी से) : असांध में भजनलाल की हरियाणा की जनहित कॉंग्रेस के पंडित ज़िलाराम चोंचरा आगे चल रहे हैं.

सिकंदरः हरियाणा के इंद्री में क्या स्थिति है.

विनीत खरे (बीबीसी से) : वहाँ भारतीय राष्ट्रीय लोकदलके अशोक कश्यप आगे हैं

हिशाम ख़ानः अल हज मूसा बशीर पटेल किस स्थिति में हैं...

पाणिनी आनंद (बीबीसी से): मूसा बशीर पटेल मुंबा देवी में तीसरे स्थान पर हैं.

सिकंदरः लड़वा, हरियाणा में कौन आगे हैं...

विनीत खरे (बीबीसी से) : भारतीय राष्ट्रीय लोकदल के शेरसिंह बसामी आगे हैं.

उमेशः महाराष्ट्र के अरवी में क्या स्थिति है.

पाणिनी आनंद (बीबीसी से): अरवी में भारतीय जनता पार्टी के दादाराव जी केचे आगे चल रहे हैं.

विनीत खरे (बीबीसी से) : मुख़्तार अब्बास नकवी ईवीएम को लेकर अपनी टिप्प्णी से मुकरते हुए दिख रहे हैं. अब उनका कहना है कि उनका तात्पर्य नहीं था कि ईवीएम की वजह से हार या जीत हुई. उनका कहना है, ‘ईवीएम के मामले पर हम बात करते रहे हैं औऱ जब भी ज़रूरत पड़ेगी हम चुनाव आयोग से बात करेंगे. ईवीएम को लेकर तकनीकी सवाल हैं लेकिन इसे चुनाव की हारजीत के साथ जोड़कर देखना ठीक नहीं है.’

राधेश्याम कासवानः क्या महाराष्ट्र के लोग छगन भुजबल का बयान भूल गए?

अविनाश दत्त (बीबीसी से) : भुजबल के बयान वाकई बहुत ही अजीबो गरीब था पर मुंबई हमलों के फ़ौरन बाद हुए लोक सभा चुनावों में भी लोगों ने कांग्रेस को अपने गुस्से की गाज गिराने के लिए नहीं चुना था. दूसरी बात ये भी है की जब एक मतदाता वोट डालने जाता है तो उसके लिए उसके अपने क्षेत्र में पानी बिजली सड़क विकास के मुद्दे अधिक महत्वपूर्ण होते हैं. वैसे भी भुजबल इतने बड़े नेता नहीं हैं की उनकी बातों का असर पूरे महाराष्ट्र पर हो.

मोनिका बिलमः हरियाणा के करनाल और घरौंदा में कौन आगे हैं.

विनीत खरे (बीबीसी से) : करनाल में कॉग्रेस की सुनीता सिंह और घरौंदा में भारतीय राष्ट्रीय लोकदल के नरेंद्र सांगवान आगे चल रहे हैं.

राजेशः हरियाणा के भिवानी और तोशाम में स्थिति क्या है?

पाणिनी आनंद (बीबीसी से): भिवानी में भाजपा के घनश्याम सर्राफ़ और तोशाम में कॉंग्रेस की किरण चौधरी आगे हैं.

रविंद्र मोहलेः महाराष्ट्र में राजनीतिक दलों का काफी कुछ दांव पर लगा है जहां मुख्यमंत्री पद के कई दावेदार हैं. प्रतिद्वंद्वी शिवसेना और एमएनएस की लड़ाई लगभग समान राजनीतिक वजहों से है तो सत्तारूढ़ कांग्रेस एवं राकांपा गठबंधन हैट्रिक बनाने के लिए मैदान में हैं. तो किसका बहुमत होगा?

महाराष्ट्र में राजनीतिक दलों का काफी कुछ दांव पर लगा है जहां मुख्यमंत्री पद के कई दावेदार हैं. प्रतिद्वंद्वी शिवसेना और एमएनएस की लड़ाई लगभग समान राजनीतिक वजहों से है तो सत्तारूढ़ कांग्रेस एवं राकांपा गठबंधन हैट्रिक बनाने के लिए मैदान में हैं। तो किसका बहुमत होगा?

अविनाश दत्त (बीबीसी से) : मेरे ख़याल से आप खुद काफी पैनी नज़र रखने वाले हैं. इन चुनावों अब तो ऐसा साफ़ लग रहा है कि कांग्रेस राष्ट्रवादी कांग्रेस गठजोड़ लगातार तीसरी बार महाराष्ट्र में सरकार बनाने की तैयारी कर रहा है. भाजपा ने हार स्वीकार कर ली है और शरद पवार दोहरा रहे हैं कि मुख्यमंत्री कांग्रेस का होगा. महाराष्ट्र में अगर छगन भुजबल, विलासराव देश के बेटे अमित देशमुख और अशोक चव्हाण के शुरूआती बयानों को देखें तो लगता है वह तो कुर्सी के लिए खींचतान शुरू भी हो गई है.

राजशेखर सिंहः मालाड पूर्व से कांग्रेस के असलम शेख की क्या स्थिति है.

पाणिनी आनंद (बीबीसी से): असलम शेख़ भारी मतों से आगे चल रहे हैं.

आफ़ाक़ अहमदः भारतीय जनता पार्टी का कहना है कि विधानसभा चुनाव में कॉंग्रेस की जीत ईवीएम मशीनों के ज़रिए की गई धांधली की वजह से है. इस पर आपकी क्या राय है?

अमित बरुआः इस तरह का बयान भाजपा के एक वरिष्ठ नेता मुख़्तार अब्बास नक़वी की ओर से आया था लेकिन बाद में उन्होंने कहा कि उनका यह तात्पर्य नहीं था और उनके बयान का ग़लत मतलब निकाला गया.

हिशाम ख़ानः भिवांडी में कौन आगे चल रहा है?

पाणिनी आनंद (बीबीसी से): महाराष्ट्र में भिवांडी पूर्व से समाजवादी पार्टी के अबू आसिम आज़मी आगे हैं. भिवांडी ग्रामीण से भाजपा के सवर विष्णु रामा आगे हैं. भिवांडी पश्चिम से समाजवादी पार्टी के अब्दुल राशिद ताहिर आगे हैं.

ज़ुबैर अहमद (बीबीसी से): महाराष्ट्र से आ रहे चुनाव रुझानों पर नज़र डालें तो करीब 40 नेता जिन्होंने अपनी पार्टी को छोड़कर किसी और दल के टिकट पर चुनाव पर लड़ा, जिन्होंने निर्दलीय चुनाव लड़ा या फिर वो उम्मीदवार जिन्होंने अन्य छोटे दलों से चुनाव लड़ा, वो आगे चल रहे हैं और उनका रोल सरकार बनाने में महत्वपूर्ण हो सकता है.

इसका सबसे बड़ा उदाहरण अमरावती में सुनील देशमुख हैं जिन्होंने कांग्रेस के टिकट पर लड़ने वाले राष्ट्रपति प्रतिभा पाटिल के बेटे रावसाहेब शेखावत को पीछे छोड़ दिया. सुनील देशमुख ने ये चुनाव निर्दलीय के रूप में लड़ा था.

शिवसेना का सिरदर्द बने सदा सर्वानकर जिन्होंने आखिरी क्षणों में कांग्रेस का दामन थामा और माहिम से चुनाव लड़ा. वो माहिम से आगे चल रहे हैं.

पूर्व शिवसेना मेयर प्रदीप जायसवाल ने औरंगाबाद केंद्र से चुनाव लड़ा और वहाँ वो आगे चल रहे हैं.

अब्दुर्रज़्ज़ाक़ः पूरे महाराष्ट्र में समाजवादी किस स्थिति में हैं...

पाणिनी आनंद (बीबीसी से): समाजवादी पार्टी को एक सीट पर विजय मिली है और तीन पर उन्के उम्मीदवार आगे चल रहे हैं.

मोनिका बिलमः नीलोखेड़ी में कौन आगे हैं?

पाणिनी आनंद (बीबीसी से): हरियाणा के नीलोखेड़ी में भारतीय राष्ट्रीय लोकदल के मामूराम 17 हज़ार वोट से जीत गए हैं.

अमित नंदनः माफ़ कीजियेगा. लेकिन क्या बीबीसी हिंदी सेवा के पास सिर्फ अमित बरुआ,अविनाश दत्त और विनीत खरे ही हैं जो सवालों के जावाब दे रहे हैं. संजीव श्रीवास्तव, रेहान फज़ल, ममता गुप्ता, रेनू अगाल, मुकेश शर्मा, नितिन, श्यामसुंदर व रूपा झा क्यों नहीं ? इसी के लिए तो बीबीसी जाना जाता है लेकिन लग रहा है अब सब कुछ बदल रहा है आपके वहां?
और जो लोग राए दे रहे हैं वो दिल्ली में बैठे हैं या फिर इन राज्यों से ताज़ी तस्वीर दे रहे हैं ?

सलमा ज़ैदी (बीबीसी से): अमित जी, इस समय मैं भी यहाँ मौजूद हूँ और कई अन्य साथी भी. शाम के रेडियो प्रसारण में आप रेहान फ़ज़ल और संजीव श्रीवास्तव की आवाज़ सुन पाएँगे. रहा सवाल दिल्ली में बैठ कर राज्यों की तस्वीर दिखाने का, तो मैं यह बताना चाहूँगी कि राज्यों में मौजूद हमारे विभिन्न संवाददाता हमें जो सामग्री मुहैया करा रहे हैं उसी को आधार बना कर आप तक जानकारी पहुंचाई जा रही है. यानी, बहुत से लोग है जो इस समय पर्दे के पीछे काम कर रहे हैं लेकिन आप से सीधे संबोधित नहीं हो पा रहे हैं.

मोहम्मद साक़िबः भिवांडी ईस्ट और मनख़ुर्द का अपडेट क्या है?

अविनाश दत्त (बीबीसी से) : समाजवादी पार्टी के अबू आसिम आज़मी भिवांडी ईस्ट से विजयी रहे हैं और मनख़ुर्द में आगे हैं.

अज्ञातः हरियाणा के दादरी से कौन आगे चल रहा है ?

अविनाश दत्त (बीबीसी से) : चुनाव आयोग के अनुसार इया सीट पर कांग्रेस के नृपेन्द्र सिंह सांगवान हरियाणा जनहित कांग्रेस के सतपाल से थोड़ा आगे चल रहे हैं.

अब्दुल क़वी ख़ानः क्या अबू आसिम और रशीद ताहिर जीत गए हैं.

पाणिनी आनंद (बीबीसी से): अबू आसिम आज़मी भिवांडी ईस्ट से और रशीद ताहिर भिवांडी वेस्ट से जीत गए हैं

मोनिका बिलामः इंद्री से कौन विजयी रहा?

विनीत खरे (बीबीसी से) : लोकदल के अशोक कश्यप विजयी रहे हैं.

पाणिनी आनंद (बीबीसी से): भारतीय राष्ट्रीय लोकदल के अशोक कश्यप आगे चल रहे हैं.

रिशाल पूनियाः लोहारू, हरियाणा की स्थिति क्या है?

पाणिनी आनंद (बीबीसी से): भारतीय राष्ट्रीय लोकदल के धर्मपाल आगे चल रहे हैं.

ऋषिकेशः आख़िर क्या करती है कॉंग्रेस जो हरियाण में इतनी आगे चल रही है. मैं वजह जानना चाहता हूँ.

विनीत खरे (बीबीसी से): हरियाणा में जो बात कांग्रेस के हक़ में गई लगती है वो है विभाजित विपक्ष. भाजपा, आईएनएलडी, बसपा, हरियाणा जनहित कांग्रेस, सभी ऩे अलग अलग चुनाव लड़ा औऱ अगर अभी तक आए रुझान पर नज़रा डाली जाए तो लगता है कि अगर राज्य में विपक्षी दलों के बीच गठबधन जैसी स्थिति होती, या फिर भाजपा आईएनएलडी साथ रहते तो शायद कांग्रेस के लिए रास्ता और मुश्किल होता.

सुरिंदर सेतियाः सिरसा, हरियाणा में क्या स्थिति है?

विनीत खरे (बीबीसी से) : सिरसा में एक निर्दलीय गोपाल कांडा आगे चल रहे हैं.

राजशेखर सिंहः डिंडोशी, महाराष्ट्र में शालिनी ठाकरे की क्या स्थिति है?

पाणिनी आनंद (बीबीसी से): डिंडोशी में शालिनी ठाकरे तीसरे स्थान पर हैं.

सिकंदर: घरौंदा से कौन जीता है?

पाणिनी आनंद (बीबीसी से): घरौंदा से भारतीय राष्ट्रीय लोक दल से नरेंद्र सांगवान विजयी रहे हैं.

दीपक: हिसार में किसे जीत मिली है?

वंदना (बीबीसी से): हिसार से कांग्रेस की उम्मीदवार सावित्री जिंदल जीत गई हैं.

अजय कथूरिया और सुरिंदर पाल: सिरसा में कौन सा प्रत्याशी आगे चल रहा है?

पाणिनी आनंद (बीबीसी से): निर्दलीय उम्मीदवार गोपाल कांडा जीत गए हैं.

आशीन सांगवान: दादरी से कौन आगे है?

पाणिनी आनंद (बीबीसी से):हरियाणा जनहित कांग्रेस से सतपाल मामूली अंतर से आगे चल रहे हैं.

भीमसेन: इस बार के विधानसभा चुनाव में जनता के फ़ैसले का आधार क्या रहा?

अमित बरुआ (बीबीसी से): चुनाव नतीजों को देखकर तो यही लगता है कि जनता ने गुड गवर्नेंस यानी सुशासन में अपना विश्वास जताया है. लोगों ने निरंतरता के पक्ष में वोट दिया है, जो सरकार सत्ता में थी उसे अपना काम और आगे बढ़ाने का मौका दिया है. एक पहलू ये भी है कि राज्यों में विपक्ष भी कड़ी टक्कर नहीं दे पाई.

राजेश कुमार झा: महाराष्ट्र में किस पार्टी को कितने वोट मिले?

वंदना (बीबीसी से): अब तक के नतीजों के मुताबिक महाराष्ट्र में कांग्रेस ने 74, एनसीपी ने 54 सीटें जीती हैं. शिव सेना के खाते में 39 तो भारतीय जनता पार्टी को 43 सीटें मिली हैं. बाकी पार्टियों को 42 सीटें मिली हैं.


BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.