समुद्री लुटेरों के कब्ज़े में 24 भारतीय

  • 23 अक्तूबर 2009
Image caption सोमालिया के नज़दीक समुद्र में इस वर्ष अब तक 47 जहाज़ों को अगवा किया जा चुका है

समुद्री लुटेरों ने सोमालिया और सेशेल्स के बीच अल ख़लीक नाम के एक मालवाहक जहाज़ को अगवा कर लिया है, इस जहाज़ पर नाविक दल के 26 लोग सवार हैं जिनमें से 24 भारतीय हैं.

यूरोपीय संघ और नैटो के अधिकारियों ने ये जानकारी दी है, इन अधिकारियों को सोमालिया से लगे समुद्री इलाक़े में समुद्री लुटेरों के आतंक से निबटने की ज़िम्मेदारी सौंपी गई है.

बताया गया है कि आधुनिक हथियारों से लैस छह समुद्री लुटेरों ने सोमालिया के समय से गुरुवार की सुबह अल ख़लीक पर धावा बोला, वे दो छोटी नौकाओं में सवार होकर आए थे और उन्होंने मालवाहक जहाज़ पर हथगोले फेंके और गोलीबारी की.

अब तक मिली जानकारी के अनुसार लुटेरों ने जहाज़ पर चढ़कर उसे अपने नियंत्रण में ले लिया है.

सोमालिया से लगे समुद्री इलाक़े में कई देशों के नौसैनिक जहाज़ गश्त करते हैं ताकि इन लुटेरों से मालवाहक जहाज़ों को बचाया जा सके लेकिन जब ये घटना हुई तो निगरानी करने वाला जहाज़ अल ख़लीक से आठ घंटे की दूरी पर था.

यूरोपीय संघ की समुद्री जल सुरक्षा से जुड़ी एजेंसी ने कहा है कि इस घटना के बाद बेल्जियम का एक नौसैनिक जहाज़ उस ओर रवाना किया गया है.

कई घटनाएँ

उस इलाक़े में जहाज़ के अगवा किए जाने की इस सप्ताह की यह तीसरी घटना है, चीन और सिंगापुर के दो जहाज़ों को पिछले दिनों लुटेरों ने अपने कब्ज़े में ले लिया है.

अल ख़लीक़ पर हमला करने से पहले इतालवी जहाज़ जॉली रोसो पर भी लुटेरों ने धावा बोला था लेकिन वह बचकर निकलने में कामयाब हो गया.

इस वर्ष अब तक सोमालियाई समुद्री लुटेरे 47 जहाज़ों को अगवा कर चुके हैं और पर सवार 661 लोगों को बंदी बना चुके हैं जिनमें से कुछ जहाज़ों को फिरौती की रकम मिलने पर उन्होंने रिहा किया है.

एक अनुमान के मुताबिक समुद्री लुटेरे फिरौती की रकम के तौर पर तीन करोड़ से अधिक की वसूली कर चुके हैं.