अल्पसंख्यकों को सुरक्षा दें बहुसंख्यक

देवबंद

भारत के गृहमंत्री पी चिदंबरम ने कहा है कि भारत में बहुसंख्यकों की यह ज़िम्मेदारी बनती है कि वे अल्पसंख्यकों को सुरक्षा दें. कुछ लोगों की कारगुज़ारियों के चलते जो विविधता भारत में थी, वो अब विरोधों के रूप में दिखाई देती है.

केंद्रीय गृहमंत्री मंगलवार को उत्तर प्रदेश के देवबंद में जमीयते उलेमा-ए-हिंद की 30वीं आम सभा को संबोधित कर रहे थे.

लगभग पाँच लाख मुस्लिम लोगों की मौजूदगी वाली इस सभा में केंद्रीय गृहमंत्री मुख्यअतिथि की हैसियत से बुलाए गए थे और कार्यक्रम में पहुँचकर उन्होंने इन लोगों को संबोधित भी किया.

अपने भाषण में चिदंबरम बोले, "हम इस्लाम को किसी बाहरी मत के रूप में नहीं देख सकते क्योंकि यह आपके (मुस्लिम समुदाय के लोगों के) पूर्वजों की ज़मीन है, आप यहां पैदा हुए हैं. यह हमारे लिए गर्व की बात है कि अन्य प्रमुख संप्रदायों की तरह ही इस्लाम भी भारत में है."

उन्होंने कहा कि जहाँ एक ओर दुनिया के बाकी कई हिस्सों में अल्पसंख्यकों को निशाना बनाया जा रहा है, भारत में सरकार अल्पसंख्यकों के अधिकारों की रक्षा के लिए प्रतिबद्ध है.

पी चिदंबरम ने कहा, "ऐसे वक़्त में, जबकि श्रीलंका में तमिलों को उनके अधिकार नहीं मिल रहे हैं, ऑस्ट्रेलिया में भारतीय छात्रों पर हमले हो रहे हैं, हमें अपने देश में मुसलमानों के अधिकारों की बात कहने में कोई हिचक नहीं है."

वंदेमातरम बाध्यता नहीं

इस मौके पर जमायत की ओर से 25 प्रस्तावों को भी पारित किया गया. इन प्रस्तावों को मुस्लिम समुदाय के हक़ में और उनकी तरक्की से संबंधित बताया गया है.

इन 25 प्रस्तावों में से एक प्रस्ताव यह भी है जिसमें सरकार से कहा गया है कि मुस्लिम समुदाय के लोगों को वंदेमातरम गाने के लिए बाध्य न किया जाए.

इसके पीछे सुप्रीम कोर्ट के एक आदेश का हवाला भी दिया गया है जिसके मुताबिक किसी भी व्यक्ति को यह गीत गाने के लिए बाध्य न किया जाए.

सभा के दौरान जहाँ एक ओर चिदंबरम ने मुसलमानों के पक्ष में कई मज़बूत बातें कहीं वहीं यह भी कहा कि पिछले वर्ष चरमपंथ के खिलाफ़ जमायत का फ़तवा केवल मुसलमानों के लिए ही नहीं, सही सोच रखनेवाले सभी लोगों के लिए अहम है और इसका अनुसरण किया जाना चाहिए.

पिछले वर्ष जमीयत की ओर से चरमपंथ की भर्त्सना करते हुए एक फ़तवा जारी हुआ था जिसमें कहा गया था कि चरमपंथ के लिए इस्लाम में कोई जगह नहीं है और जमायत इसका विरोध करता है.

संबंधित समाचार