नैटो की बमबारी में अफ़ग़ान मरे

Image caption अफगानिस्तान में नैटो सैनिकों पर हमले तेज़ हुए हैं

पश्चिमोत्तर अफगानिस्तान में नैटो की बमबारी में अमरीकी सेना के साथ काम करने वाले आठ अफ़गान नागरिक मारे गए है.

नैटो ने यह बात मान ली है कि शुक्रवार को उस इलाक़े में हवाई हमले किए गए है और इन मौतों के कारणों की जांच के आदेश दे दिए गए है.

यह हवाई हमले तब किए गए जब बदग़िस प्रांत में लापता हुए दो अमरीकी सैनिकों की खोज में लगे नैटो और अमरीकी सैनिकों पर चरमपंथियों की ओर से हमले किए गए.

इस दौरान पांच अमरीकी और 18 अफ़गान नागरिक घायल भी हुए. नैटो ने कहा कि एक संयुक्त अभियान के अंतर्गत कई जगह पर घंटों तक एक साथ कार्रवाई की जा रही थी जिस दौरान यह मौतें हुईं है.

अहम मिशन

अफगानिस्तान के रक्षा मंत्रालय ने बताया कि नैटो गठबंधन के सैनिकों और अफ़ग़निस्तान सैनिकों वाले एक अड्डे पर ग़लती से हवाई हमले किए गए जिसमें चार अफ़ग़ान सैनिक, तीन पुलिसकर्मी और एक अनुवादक सहित आठ लोग मारे गए.

नैटो सेना की एक प्रवक्ता और अमरीकी नौसेना की कैप्टन जेन कैम्पबेल ने कहा, "इस अत्यंत महत्वपूर्ण मिशन के दौरान जो लोग मारे गए हैं और जो घायल हुए हैं उनके लिए हमें दुख है."

अभी कुछ दिन पहले ही हेलमंद प्रांत में एक अफ़ग़ान पुलिस ने उन पांच ब्रितानी सैनिकों को मार दिया था जिसे ब्रितानी पुलिस प्रशिक्षण दे रहे थे.

काबुल स्थित बीबीसी संवाददाता एंड्र्यू नॉर्थ का कहना है कि इस घटना के बाद गठबंधन सेना में यह आशंका पैदा हो गई है कि अफ़ग़ानिस्तान की सेना में तालेबान के चरमपंथी घुस रहे हैं.

अधिकारियों का कहना है कि पश्चिमी अफ़ग़निस्तान में एक नियमित सप्लाई मिशन पर निकले जो दो अमरीकी सैनिक लापता हुए थे वह शायद नदी में डूब गए थे.

पुलिस का कहना है कि नैटो विमान से की गई सप्लाई ग़लती से नदी में गिर गई थी जिसे निकालने की कोशिश में यह सैनिक नदी में डूब गए.

तालेबान के एक प्रवक्ता ने बताया कि बदग़िस प्रांत में उन्होंने दो शव बरामद किए हैं. अफगानिस्तान में नैटो के गठबंधन में 40 देशों के एक लाख 10 हज़ार सैनिक तैनात हैं जिनमें दो तिहाई सैनिक अमरीकी हैं.

पश्चिमी अफ़ग़ानिस्तान में हाल के दिनों में तालेबान लड़ाकों ने नैटो सैनिकों ख़िलाफ़ हमले तेज़ कर दिए हैं. इस साल अफ़ग़ानिस्तान में 400 से ज़्यादा नैटो सैनिक मारे गए हैं, जिनमें अधिकाँश अमरीकी सैनिक हैं.

संबंधित समाचार