मणिपुर हमले में पांच सैनिकों की मौत

  • 23 नवंबर 2009
सुरक्षा बल
Image caption पूर्वोत्तर राज्यों में विद्रोही हिंसा जारी है

भारत के पूर्वोत्तर राज्य मणिपुर में पृथकतावादियों के एक हमले में कम से कम पांच फ़ौजी मारे गए हैं जिनमें दो अधिकारी भी शामिल हैं.

अधिकारियों का कहना है कि सोमवार को यूनाइटेड नेशनल लिब्रेशन फ़्रंट (यूएनएलएफ़) के विद्रोहियों ने 43 असम राइफ़ल सेना की टुकड़ी पर हमला किया.

अधिकारियों का कहना है कि बर्मा की सीमा से लगने वाले मणिपुर के चांडेल ज़िले में सैनिकों पर हमला करते वक्त विद्रोही भारी हथियारों से लैस थे.

असम राइफ़ल के एक कैप्टेन और एक मेजर समेत तीन जवानों की घटना स्थल पर ही मौत हो गई.

अधिकारियों का कहना है कि विद्रोही उन मृत भारतीय फ़ौजी के हथियार अपने साथ ले गए हैं.

यूएनएलएफ़ के प्रवक्ता ने इस हमले की ज़िम्मेदारी लेते हुए धमकी दी है कि इस प्रकार की घटनाएं आने वाले दिनों में भी होंगी.

साथ ही यूएनएलएफ़ ने 10 जवानों को मारने का दावा किया है.

मणिपुर के पृथकतावादी विद्रोही गुटों में यूनएलएफ़ सबसे सशक्त है और इसके लड़ाके बर्मा से लगे कुछ इलाक़ों में भारतीय सैनिकों को घुसने नहीं देते हैं क्योंकि ये इलाक़ा पूरी तरह से उनके क़ब्ज़े में है.

संबंधित समाचार