हिंसा के बीच दूसरे दौर का मतदान संपन्न

झारखंड के मतदाता
Image caption झारखंड में पहले चरण में 52 प्रतिशत मतदान हुआ

हिंसा की खबरों और विरोध के बीच झारखंड में बुधवार को विधानसभा चुनाव के दूसरे चरण का मतदान पूरा हो गया है.

चुनाव अधिकारियों का कहना है कि राज्य में दूसरे चरण के मतदान में क़रीब 48 से 50 प्रतिशत वोट पड़े.

मतदान के दौरान अनेक जगहों पर विस्फोट, गोलीबारी और वाहनों को आग लगाए जाने की ख़बर मिली है. तीन सुरक्षाकर्मी मारे गए है और चार आम नागरिक घायल हुए हैं.

झारखंड विधानसभा की कुल 81 सीटों में से 14 में दूसरे चरण के लिए मतदान बुधवार सुबह स्थानीय समयानुसार सात बजे शुरु हो गया था और दोपहर तीन बजे तक चला. पहले चरण में 26 सीटों के लिए लगभग 52 प्रतिशत मतदान हुआ था.

मतदान की शुरुआत के कुछ ही देर बाद गिरडीह ज़िले में पीरतांड कस्बे में तीन अलग-अलग जगहों पर विस्फोट होने की ख़बर मिली.

इन धमाकों में केंद्रीय रिज़र्व पुलिस बल (सीआरपीएफ़), केंद्रीय औद्योगिक सुरक्षा बल (सीआईएसएफ़) और राज्य पुलिस के एक-एक जवान के मारे जाने की ख़बर है. ये सुरक्षाकर्मी तब मारे गए जब गश्त लगाते समय बारूदी सुरंगों के विस्फोट हुए.

झारखंड पुलिस के प्रवक्ता ने बीबीसी को बताया, "तीन जगह विस्फोट होने की ख़बर मिली है. फ़िलहाल हमारे पास पूरी जानकारी नहीं आई है लेकिन एक पुलिस जवान के मारे जाने की पुष्टि हुई है."

गिरडीह में डुमरी विधानसभा क्षेत्र में एक स्कूल के भवन और छोटे पुल को विस्फोट से उड़ा दिया. इससे पूरे इलाक़े में आवागमन ठप्प हो गया.

इसके आलावा माओवादियों ने गड़वा में और चतरा में अंधाधुंध गोलीबारी की है जिसमें चार लोग घायल हो गए. ये गोलीबारी मतदान शुरु होने से ठीक पहले हुई. वहाँ माओवादियों ने मतदान में विघ्न डालने के मकसद से तीन वाहनों में आग भी आग लगा दी.

चालीस हज़ार सुरक्षाकर्मी तैनात

माओवादियों ने झारखंड में पहले की ही तरह इस बार भी विधानसभा चुनाव के बहिष्कार की घोषणा की.

इस चरण में 14 विधानसभा क्षेत्रों में 4300 से अधिक मतदान केंद्र थे जिनमें से 60 प्रतिशत अतिसंवेदनशील घोषित थे.

चुनाव प्रक्रिया के दौरान इस चरण के लिए वहाँ राज्य पुलिस और अर्धसैनिक बलों के लगभग 40 हज़ार सुरक्षाकर्मी तैनात किए गए और दो हेलिकॉप्टरों की व्यवस्था भी की गई.

जिन चुनाव क्षेत्रों में चुनाव हुआ, वे हैं - कोडरमा, बड़ही, मांडू, रामगढ़, गांडे, गिरडीह, गोमिया, मतार, डुमरी, सिली, खिजड़ी, मंडार, खूंटी और पाकुर.

चुनाव आयोग ने नौ निरीक्षकों को चुनाव के लिए नियुक्त किया था. चुनाव आयोग के लगभग 17 हज़ार कर्मी चुनाव प्रक्रिया के इस चरण से जुड़े हुए थे.

मुख्य उम्मीदवारों में कांग्रेस के सरफ़राज़ अहमद, जनता दल (यू) के राजा पीटर, झारखंड जनाधिकार मंच के बंधू टिरकी, भाजपा के चंद्र मोहन और राष्ट्रीय जनता दल की अन्नपूर्णा देवी शामिल हैं.

संबंधित समाचार