कोपेनहेगन रवाना होंगे जयराम

  • 11 दिसंबर 2009
जयराम रमेश
Image caption जयराम रमेश सम्मेलन में भारत का पक्ष रखेंगे

भारत के वन और पर्यावरण मंत्री जयराम रमेश आज कोपेनहेगन रवाना हो रहे हैं, जहाँ जलवायु परिवर्तन पर संयुक्त राष्ट्र का महत्वपूर्ण सम्मेलन चल रहा है.

इस सम्मेलन में भारत के रुख़ पर भी दुनिया की नज़र है और भारत ने वादा भी किया है कि वह सकारात्मक सोच के साथ इस सम्मेलन में अपना पक्ष रखेगा.

पिछले दिनों कार्बन उत्सर्जन में कटौती की चीन की घोषणा के बाद भारत पर भी इस तरह की घोषणा का दबाव बना था.

बाद में भारत ने भी घोषणा की कि वह भी कार्बन उत्सर्जन में 20 से 25 फ़ीसदी कमी का लक्ष्य रखेगा.

रुख़

हालाँकि जयराम रमेश ने संसद में स्पष्ट किया था कि भारत को इस संबंध में क़ानूनी रूप से बाध्यकारी कोई समझौता स्वीकार नहीं है.

लेकिन भारत पर ये भी आरोप लग रहा है कि अमरीका के दवाब में उसने इस मुद्दे पर अपने रुख़ को नरम किया है.

भारत पर सेंटर फ़ॉर साइंस एंड एन्वॉयरमेंट (सीएसई) जैसी संस्थाओं का भी दवाब है.

सीएसई का कहना है कि भारत कार्बन उत्सर्जन में कमी तो करे, लेकिन अमीर देशों के दवाब में न आए.

संबंधित समाचार