तेलंगाना के विरोध में हिंसा जारी

  • 12 दिसंबर 2009
आंध्र प्रदेश
Image caption आंध्र और रायलसीमा क्षेत्र में विरोध प्रदर्शन हो रहे हैं

अलग तेलंगाना राज्य के गठन की प्रक्रिया शुरू करने की घोषणा को लेकर आंध्र प्रदेश में शुरू हुआ बवाल जारी है.

शनिवार को भी आंध्र और रायलसीमा क्षेत्र में बंद है और वहाँ हिंसा भी हुई है. तेलंगाना राज्य के गठन का विरोध कर रहे प्रदर्शनकारियों ने कई इलाक़ों में बसों में आग लगा दी है.

ट्रेन पर पथराव भी हुए हैं और यातायात सबसे ज़्यादा प्रभावित है. विजयवाड़ा, विशाखापट्टनम और अनंतपुर में बस सेवाएँ रद्द हैं और आम यात्री फँसे हुए हैं.

कई क्षेत्रों में तेलंगाना विरोधी विधायक भूख हड़ताल पर बैठे हैं. विशाखापट्टनम के आंध्र यूनिवर्सिटी में 20 छात्र आमरण अनशन पर बैठे हुए हैं.

ये उनके आमरण अनशन का दूसरा दिन है. प्रदर्शनकारी रास्ता रोको आंदोलन भी कर रहे हैं.

अतिरिक्त पुलिसबल

आंध्र प्रदेश की सरकार ने कर्नाटक से अतिरिक्त पुलिस बल की पाँच बटालियन मंगाई है.

Image caption प्रदर्शनकारी ख़ासतौर पर वाहनों को आग लगा रहे हैं

बुधवार देर रात को केंद्रीय गृह मंत्री पी चिदंबरम ने घोषणा की थी कि अलग तेलंगाना राज्य के गठन की प्रक्रिया शुरू की जाएगी.

इस घोषणा के बाद ही आंध्र प्रदेश की राजनीति में उबाल आ गया है. कांग्रेस, तेलुगूदेशम और प्रजाराज्यम पार्टी के कई विधायकों ने इस्तीफ़ा दे दिया है.

हालाँकि शुक्रवार को प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने आंध्र प्रदेश के कई सांसदों से मुलाक़ात में यह कहा था कि सरकार अलग तेलंगाना राज्य के गठन पर जल्दबाज़ी नहीं करेगी.

लेकिन इससे आंध्र और रायलसीमा में कोई ख़ास असर नहीं दिख रहा है और आंदोलन जारी है.

संबंधित समाचार