विकास की राजनीति करुँगा: गडकरी

  • 19 दिसंबर 2009
नितिन गडकरी
Image caption नितिन गडकरी इससे पहले महाराष्ट्र की राजनीति करते रहे हैं

भारतीय जनता पार्टी के नए अध्यक्ष नितिन गडकरी ने पद ग्रहण करने के बाद कहा है कि पार्टी के सभी नेताओं, पदाधिकारियों और कार्यकर्ताओं को साथ लेकर और मिलकर काम करेंगे.

उन्होंने कहा कि उनका विश्वास विकास की राजनीति में है और वे इसी पर काम करते रहेंगे.

उन्होंने शनिवार को पार्टी का अध्यक्ष बनाए जाने के बाद अपने संक्षिप्त भाषण में कहा, "इस पद पर मेरा आसीन होना सम्मान की बात है और पार्टी ने मुझ पर एक बड़ी ज़िम्मेदारी सौंपी है."

उन्होंने कहा,"कोशिश होगी कि जो ज़िम्मेदारी सौंपी गई है उसका ईमानदारी के साथ निर्वहन करूं."

शनिवार को राजनाथ सिंह ने अपने पद से इस्तीफ़ा देते हुए संसदीय बोर्ड के निर्णय के अनुसार नितिन गडकरी को नया अध्यक्ष नियुक्त करने की घोषणा की.

उन्होंने तत्काल कार्यभार संभाल लिया है.

बड़ी ज़िम्मेदारी

उन्होंने आडवाणी को अपना आदर्श बताते हुए कहा कि जो पद उन्हें दिया गया है उस पद पर उनसे पहले अटल बिहारी वाजेपयी और लालकृष्णा आडवाणी जैसे नेता विराजमान रह चुके हैं इसलिए इस पद का उनको मिलना एक बडी बात है.

गडकरी ने साफ़ किया संसदीय दल के चेयरमेन लालकृष्ण आडवाणी उनका मार्गदर्शन करते रहेंगे.

अपने को एक जम़ीनी नेता के रूप में पेश करते हुए गडकरी ने कहा कि उन्होंने आपातकाल के बाद अपने राजनीतिक जीवन की शुरुआत की और एक निष्ठावान कार्यकर्ता के रुप में काम किया है.

कार्यभार संभालने से पहले संवादादताओं से बातचीत करते हुए नितिन गडकरी ने कहा, "देश भक्ति की भावना से प्रेरित होकर विकास की राजनीति करनी है, क्योकि मैं विकास की राजनीति पर विश्वास करता हूँ."

उन्होंने कहा कि वे चाहते हैं कि विकास के दम पर भारत इक्कीसवीं सदी में न केवल आर्थिक दृष्टि से बल्कि विज्ञान और तकनीक की दृष्टि से सबसे आगे हो.

उन्होंने ज़ोर देकर कहा कि वो पूरे शक्ति से काम करेंगे और उनके कार्यकर्ताओं में पूरा उत्साह है.

गडकरी का कहना था कि एक समय भाजपा के पास दो सांसद थे और उसकी तुलना में आज उनकी शक्ति काफ़ी बडी़ है इसलिए चिंता का कोई सवाल नहीं है.

संबंधित समाचार