केंद्र के रुख का तेलंगाना में विरोध

चिदंबरम
Image caption केंद्र सरकार इस मुद्दे पर अब सोच समझ कर क़दम उठाती दिख रही है.

केंद्र सरकार ने अलग तेलंगाना राज्य बनाने के मु्द्दे पर हाथ खींचते हुए कहा है कि अभी और विचार विमर्श की ज़रुरत है जिसके बाद सभी दलों से तेलंगाना क्षेत्र के नेताओं ने विरोध करने की घोषणा की है.

केंद्रीय गृह मंत्रि पी चिदंबरम ने बुधवार को कहा कि आंध्र प्रदेश में परिस्थितियां बदली हैं और राज्य में पहले शांति होनी चाहिए.

उनका कहना था, ‘‘आंध्र प्रदेश में स्थितियां अब बदल गई हैं. हमें तेलंगाना के मुद्दे पर सभी दलों के साथ विचार विमर्श करना होगा.’’

चिदंबरम ने कहा, ‘‘ भारत सरकार इस प्रक्रिया में शामिल सभी लोगों से बातचीत के लिए क़दम उठा रही है.आंध्र में पहले शांति होनी चाहिए.’’

उन्होंने अपील की कि राज्य में इस मुद्दे पर चल रहे आंदोलन को वापस लिया जाए.

नेताओं का विरोध

चिदंबरम के बयान के बाद तेलंगाना क्षेत्र में एक बार फिर विरोध प्रदर्शनों में तेज़ी आने की आशंका है. सभी दलों के तेलंगाना क्षेत्र के नेताओं ने ज्वाइंट एक्शन कमिटी बनाकर आंदोलन को तेज़ करने का फ़ैसला कर लिया है.

Image caption तेलंगाना के मुद्दे पर ही चंद्रशेखर राव ने तेलंगाना राष्ट्र समिति का गठन किया था.

आंध्र प्रदेश राज्य कैबिनेट ने चिदंबरम के बयान का स्वागत किया है और कहा है कि कांग्रेस पार्टी इस मसले को सुलझाने की कोशिश कर रही है. हालांकि दूसरे दलों ने कहा कि केंद्र सरकार ने इस बयान के ज़रिए तेलंगाना के लोगों में भ्रम फैलाने की कोशिश की है.

कैबिनेट मंत्री डी नागेंदर ने कहा कि केंद्र ने तेलंगाना के मुद्दे पर हाथ नहीं खींचें हैं और इसके बनने की प्रक्रिया जारी है.

उनका कहना था, ''राजनीतिक दलों का कहना है कि केंद्र सरकार ने नौ दिसंबर को जो घोषणा की थी उससे पहले दलों से विचार नहीं किया था. अब केंद्रीय गृह मंत्री ने साफ किया है कि सबसे विचार विमर्श किया जाएगा.''

उल्लेखनीय है कि केंद्र सरकार ने नौ दिसंबर को कहा था कि वो तेलंगाना के गठन के लिए तैयार है.

चिदंबरम ने कहा कि केंद्र को राज्य सरकार की रिपोर्ट मिली थी जिसमें राज्य के सभी दलों की बैठक के मिनट्स भी थे. अब हमें लगता है कि राज्य में ही इस मुद्दे पर आम राय नहीं है और इसलिए आगे विचार विमर्श की ज़रुरत है.

लेकिन फिलहाल समस्या जटिल होती दिख रही है. तेलंगाना राष्ट्र समिति और तेलुगु देशम पार्टी के अलावा कांग्रेस के तेलंगाना क्षेत्र के नेताओं ने गुरुवार को एक संयुक्त बैठक रखी है. इन नेताओं ने ज्वाइंट एक्शन कमिटी बनाकर आंदोलन जारी रखने की भी बात कही है.

संबंधित समाचार