पाँच देशों के लिए पहुँचने पर वीज़ा

विमानतल पर यात्री
Image caption भारत पहली बार ऐसी सुविधा दे रहा है

सरकार ने पाँच देशों के नागरिकों को भारत पहुंचने के बाद वीज़ा की सुविधा देने का फ़ैसला किया है. यह प्रक्रिया पहली जनवरी से ही शुरु हो गई है.

जिन पाँच देशों को यह सुविधा देने की घोषणा की गई है, उनमें जापान, न्यूज़ीलैंड, सिंगापुर, लक्ज़मबर्ग और फ़िनलैंड शामिल हैं.

चेन्नई, मुंबई, दिल्ली और कोलकाता विमानतल पर यह सुविधा उपलब्ध होगी.

भारत सरकार ने पहली बार ऐसी सुविधा देने का फ़ैसला किया है.

पाँच देशों के नागरिकों को वीज़ा में यह छूट देने की शुरुआत ऐसे समय में हो रही है जब सरकार अपने वीज़ा नियमों को सख़्त बना रही है.

यहाँ तक कि वीज़ा नियमों में परिवर्तन पर अमरीका ने आपत्ति भी जताई है.

वीज़ा नियमों के ख़िलाफ़ विदेश राज्यमंत्री शशि थरूर ने टिप्पणी की थी. बाद में उन्हें उनके कैबिनेट मंत्री एसएम कृष्णा ने सार्वजनिक रुप से ऐसी टिप्पणियाँ न करने की नसीहत भी दी थी.

वीज़ा

इन पाँच देशों के नागरिक सिर्फ़ पासपोर्ट लेकर भारत आ सकेंगे और विमानतल पर ही उन्हें वीज़ा दे दिया जाएगा.

इसके लिए 60 डॉलर (लगभग साढ़े सत्ताइस सौ) रुपए का भुगतान करना होगा.

अधिकारियों का कहना है कि विदेश मंत्रालय ने वीज़ा देने के लिए एक नियमावली इन विमानतलों पर भेज दी है.

संभावना है कि इस सुविधा के बाद इन देशों से व्यावसायिक संबंध और मज़बूत होंगे और पर्यटन को बढ़ावा मिलेगा.

श्रीलंका, हांगकांग और थाईलैंड कई देशों के नागरिकों को पहुँचने के बाद विमानतल पर वीज़ा देने की सुविधा दे रखी है. इसमें भारत भी शामिल है. वैसे मलेशिया ने भी भारत के लिए ऐसी सुविधा दी थी लेकिन भारतीय के निर्धारित समय से ज़्यादा समय ठहरने की शिकायतों के बाद यह सुविधा वापस ले ली गई है.

संबंधित समाचार