तेलंगाना पर केंद्र को अल्टीमेटम

  • 12 जनवरी 2010
Image caption पृथक तेलंगाना को लेकर आंदोलन तेज़ करने की योजना है

तेलंगाना संयुक्त संघर्ष समिति ने मंगलवार को घोषणा की है कि यदि केंद्र सरकार ने 28 जनवरी तक पृथक तेलंगाना राज्य के गठन की प्रक्रिया शुरू नहीं की तो इस क्षेत्र के सभी 119 विधायक और 17 लोक सभा सदस्य अपने इस्तीफ़ा स्वीकार करने के लिए दबाव डालेंगे.

ये फ़ैसला तेलंगाना संयुक्त संघर्ष समिति की बैठक में लिया गया जिसमें कांग्रेस, तेलुगू देशम, भाजपा औप तेलंगाना राष्ट्रीय परिषद के नेता मौजूद थे.

बैठक के बाद संघर्ष समिति के संयोजक के प्रोफेसर कोदंदा राम का कहना था कि ज़िला परिषद और नगर निगमों, मंडल परिषद और ग्राम पंचायत के अध्यक्ष अपने इस्तीफ़े स्वीकार करने के लिए दबाव डालेंगे ताकि केंद्र सरकार पर दबाव बनाया जा सके.

कोदंदा राम का कहना था,'' हम इस्तीफ़ों से ही राजनीतिक संकट उत्पन्न कर सकते हैं और केंद्र सरकार को पृथक तेलंगाना राज्य के गठन की प्रक्रिया के लिए दबाव डाल सकते हैं.''

संघर्ष समिति ने कई अन्य फ़ैसले लिए जिसमें हैदराबाद और क्षेत्र में नौ ज़िलों में 16 से 28 जनवरी तक भूख हड़ताल का आयोजन किया जाएगा. इसमें विधायक भी हिस्सा लेंगे

इस बैठक में तेलंगाना संघर्ष समिति के चंद्रशेखर राव, तेलुगू देशक के आर प्रकाश रेड्डी और एम नरसिंहलू, कांग्रेस के आर दमोदर रेड्डी और के जना रेड्डी, भाजपा के विद्यासागर राव शामिल थे.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार