शेन वॉर्न घोलेंगे रिश्तों में मिठास

  • 26 जनवरी 2010
शेन वॉर्न
Image caption शेन वॉर्न राजस्थान रॉयल्स के कप्तान हैं

ऑस्ट्रेलिया और भारत के रिश्तों में पिछले दिनों नस्लभेद को लेकर जो तनाव पैदा हुआ है उसे कम करने की ज़िम्मेदारी अब ऑस्ट्रेलिया के पूर्व स्पिनर शेन वॉर्न संभालेंगे.

ऑस्ट्रेलियाई राज्य विक्टोरिया की सरकार ने शेन वॉर्न की लोकप्रियता को देखते हुए ये फ़ैसला लिया है.

पिछले एक साल में ऑस्ट्रेलिया में पढ़ाई के लिए गए भारतीय छात्रों पर हुए हिंसक हमलों के बाद ऑस्ट्रेलिया की छवि ख़राब हुई है.

वहाँ रहनेवाले भारतीय ये मानने लगे हैं कि उन पर हो रहे हमलों के पीछे ऑस्ट्रेलिया के लोगों की नस्लभेदी सोच काम कर रही है.

हालाँकि ऑस्ट्रेलिया सरकार भारतीयों पर हो रहे हमलों के पीछे किसी नस्लभेदी सोच के होने की संभावना से इनकार करती रही है, लेकिन भारतीयों पर हमले की घटनाएँ थमने का नाम नहीं ले रहीं.

इस बात को लेकर दोनों देशों में तनाव की स्थिति बनी हुई है. इसीलिए विक्टोरिया सरकार ने दोनों ही देशों में बेहद मशहूर और आईपीएल में राजस्थान रॉयल्स के कप्तान और कोच शेन वॉर्न को रिश्तों में घुली कड़वाहट को कम करने की जिम्मेदारी सौंपी है.

उम्मीद

ख़ुद शेन वॉर्न का भी कहना है, "मुझे लगता है मैं भारत और ऑस्ट्रेलिया के तल्ख रिश्तों में कुछ मिठास घोल सकता हूँ."

सोमवार को मेलबर्न में पत्रकारों से बात करते हुए वॉर्न ने कहा, "भारत के लोगों ने मुझे बहुत प्यार दिया है और मुझे लगता है कि दोनों देशों के बीच के रिश्तों को सुधारने में मुझे ज़रूर कामयाबी मिलेगी.'

वॉर्न ने 2007 में जब क्रिकेट को अलविदा कहा था तो वो दुनिया में सबसे ज्यादा विकेट लेने वाले गेंदबाज थे.

नई ज़िम्मेदारी संभालने के बाद उन्होंने कहा कि उन्हें नहीं लगता कि ऑस्ट्रेलिया में नस्लभेद है. वे भारत जाकर दोनों देशों के बीच ख़राब हुए रिश्तों को सुधारने की पूरी कोशिश करेंगे.

वॉर्न ने ये भी कहा कि भारत और ऑस्ट्रेलिया में लोग क्रिकेट को बेहद पसंद करते हैं और वे उनकी अपील ज़रूर सुनेंगे.

ऑस्ट्रेलिया में फ़ेडरेशन ऑफ़ इंडियन स्टूडेंट्स के प्रवक्ता गौतम गुप्ता ने शेन वॉर्न को सौंपी गई नई ज़िम्मेदारी का स्वागत किया है.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार