कश्मीर बंद, जम्मू में मोबाइल सेवाएं ठप्प

kashmir
Image caption राज्य में सुरक्षा के कड़े इंतज़ाम किए गए हैं.

भारत प्रशासित कश्मीर में गणतंत्र दिवस की 60वीं वर्षगांठ पर बंद का असर देखने को मिल रहा है. वहीं जम्मू में मोबाइल सेवाएं ठप्प कर दी गईं.

श्रीनगर से बीबीसी संवाददाता अल्ताफ़ हुसैन ने बताया कि गणतंत्र दिवस के मौके पर कश्मीर में बंद का लगभग पूरा-पूरा असर देखने को मिल रहा है.

हालांकि उन्होंने बताया कि इस दौरान सरकारी आयोजन हुए और उन्हें शांतिपूर्ण ढंग से पूरा किया गया.

घाटी में मंगलवार को अलगाववादी गुटों की ओर से काला दिवस घोषित किया गया है और बंद का आहवान किया गया है. इसका असर दिखाई दे रहा है.

कई इलाकों में दुकानें, बाज़ार बंद हैं और यातायात व्यवस्था भी ठप्प पड़ी हुई है.

पुलिस ने तमाम सड़कों पर बैरीकेटिंग करके आवागमन रोक रखा था. श्रीनगर में भारी सुरक्षा इंतज़ामों के बीच सरकारी जलसे आयोजित किए गए पर आम आदमी इनमें नहीं पहुँचे.

घंटाघर के पास सीआरपीएफ़ ने अपने बंकर पर तिरंगा लहराया.

मोबाइल सेवा ठप्प

उधर जम्मू से बीबीसी संवाददाता बीनू जोशी ने बताया है कि गणतंत्र दिवस पर सुरक्षा के मद्देऩज़र मोबाइल सेवाएं ठप्प कर दी गईं.

यहां तक कि एसएमएस के ज़रिए संदेश भेजना भी बंद रखा गया.

राज्य में गणतंत्र दिवस के मौके पर चरमपंथी हमलों के ख़तरे को देखते हुए हाई अलर्ट घोषित था.

यहाँ निजी मोबाइल कंपनी के फोनों पर सिग्नल ही नहीं आ रहे थे वहीं मंगलवार सुबह से बीएसएनएल के फोन कनेक्टिंग एरर दिखाते रहे.

अधिकारियों ने बताया कि ऐसा सुरक्षा के लिहाज से ज़रूरी समझकर किया गया है.

ग़ौरतलब है कि राज्य में प्रीपेड मोबाइल फोन सेवाओं पर रोक लगा दी गई थीं. हालांकि पिछले दिनों उन्हें फिर से चालू करने के निर्देश जारी हो चुके हैं.

संबंधित समाचार