नहीं झुकेंगे शाहरुख़ ख़ान

  • 4 फरवरी 2010
शाहरुख़ ख़ान और करण जौहर
Image caption शाहरुख़ की फ़िल्म के निर्माता-निर्देशक करण जौहर हैं

शिवसेना की ओर से चल रही बयानबाज़ी से आहत चर्चित अभिनेता शाहरुख़ ख़ान ने कहा है कि वे समझ नहीं पा रहे हैं कि मुद्दा क्या है.

लेकिन उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि वे धमकियों के आगे झुकने वाले नहीं हैं.

लंदन में पत्रकारों से बातचीत में शाहरुख़ ने अपनी नई फ़िल्म माई नेम इज ख़ान से जुड़े लोगों से यह कहते हुए माफ़ी मांगी कि उनके रुख़ से फ़िल्म पर असर पड़ सकता है.

पिछले दिनों इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में पाकिस्तानी खिलाड़ियों को न शामिल करने के मुद्दे पर शाहरुख़ ने कहा था कि ऐसा नहीं होना चाहिए था.

शाहरुख़ के इस बयान से नाराज़ शिवसेना ने उनकी आने वाली फ़िल्म माई नेम इज ख़ान के ख़िलाफ़ अभियान चलाया है और शाहरुख़ से माफ़ी मांगने को कहा है.

माफ़ी

पत्रकारों से बातचीत में शाहरुख़ ने कहा, "मैं नहीं जानता कि मुद्दा क्या है. मैं ये भी नहीं समझ पा रहा हूँ कि मुझसे क्या वापस लेने को कहा जा रहा है. क्या मैं इस तथ्य से पीछे हट जाऊँ कि मैं भारतीय हूँ और मैं ये नहीं चाहता कि कोई मेरे देश में आए."

शाहरुख़ ने कहा कि उन्होंने तो सिर्फ़ इतना ही कहा है कि लोग उनके देश में आकर क्रिकेट के इस बड़े मुक़ाबले में हिस्सा लें.

उन्होंने कहा कि अब उन्हें कुछ भी कहने में मुश्किल हो रही है क्योंकि लोगों का दाँव बहुत ज़्यादा है.

शाहरुख़ अपनी फ़िल्म के प्रोमोशन के लिए बुधवार को लंदन में थे. उनके साथ निर्माता करण जौहर और अभिनेत्री काजोल भी मौजूद थीं.

Image caption शाहरुख़ की फ़िल्म के ख़िलाफ़ प्रदर्शन हुए हैं

उन्होंने फ़िल्म से जुड़े लोगों से इस सारे विवाद के लिए माफ़ी भी मांगी.

शाहरुख़ ने कहा, "मैं करण जौहर, काजोल और फ़िल्म से जुड़े लोगों से माफ़ी मांगता हूँ. क्योंकि मेरे रुख़ से फ़िल्म पर असर पड़ सकता है."

आरोप है कि शिवसेना के कार्यकर्ताओं ने शाहरुख़ ख़ान की आने वाली इस फ़िल्म के पोस्टर फाड़ डाले हैं और मल्टीप्लेक्स वालों को चेतावनी दी है.

माई नेम इज ख़ान का निर्देशन करण जौहर ने किया है. बड़े पर्दे पर शाहरुख़ और काजोल की जोड़ी आठ साल बाद दर्शकों के सामने आ रही है.

ये फ़िल्म दुनियाभर में 12 फरवरी को रिलीज़ हो रही है.

संबंधित समाचार