मेल-मिलाप की कोशिश में शाहरुख़

शाहरुख़ ख़ान
Image caption अमरीका और ब्रिटेन के दौरे से लौटे शाहरुख़

अपनी आने वाली फ़िल्म माई नेम इज ख़ान के प्रोमोशन के बाद मुंबई लौटे शाहरुख़ ख़ान ने कहा है कि उन्होंने कोई असंवैधानिक बात नहीं की है.

मुंबई हवाई अड्डे पर पत्रकारों से बातचीत में उन्होंने कहा कि उन्होंने तो सिर्फ़ ये कहा था कि पाकिस्तान या अन्य देशों के खिलाड़ियों को भारत आना चाहिए.

शाहरुख़ ने कहा कि उन्होंने कोई ग़लत बात नहीं की है. उन्होंने कहा कि अगर कोई ग़लतफ़हमी है तो वे बातचीत के लिए तैयार हैं.

शाहरुख़ ने कहा कि वे बाल ठाकरे और उद्धव ठाकरे से कई बार मिले हैं और उनसे फिर मिलने में उन्हें कोई समस्या नहीं.

वजह

हालाँकि उन्होंने यह भी स्पष्ट किया कि इस मामले पर वहाँ जाने की आवश्यकता नहीं क्योंकि उन्होंने सब कुछ स्पष्ट कर दिया है.

ये पूछे जाने पर कि उन्होंने अपनी टीम में किसी पाकिस्तानी खिलाड़ियों को क्यों नहीं लिया, तो शाहरुख़ ने कहा, "मैं अब्दुल रज़्ज़ाक़ को टीम में लेना चाहता था. लेकिन रात के बाहर बजे मेरी टीम के कोच ने बताया कि रज़्ज़ाक़ की कलाई में चोट है. हमारे पास एक ही जगह थी."

शाहरुख़ ने कहा कि वे मुंबई पहुँच कर काफ़ी ख़ुश हैं. उन्होंने कहा कि वे जो कुछ हैं, मुंबई की वजह से हैं.

उन्होंने कहा कि उन्हें भारतीय होने पर गर्व है और वे देश के संविधान पर भरोसा करते हैं.

संबंधित समाचार