आंध्र में 15 विधायकों ने इस्तीफ़े सौंपे

  • 14 फरवरी 2010
तेलंगाना समर्थक छात्र(फ़ाइल फ़ोटो)
Image caption छात्रों ने इससे पहले भी तेलंगाना के लिए व्यापक आंदोलन किए हैं

अलग तेलंगाना राज्य की माँग पर इस्तीफ़े की राजनीति ने फिर ज़ोर पकड़ लिया है.

आंध्र प्रदेश में तेलंगाना क्षेत्र से चुने गए 15 विधायकों ने रविवार को विधानसभा की सदस्या से इस्तीफ़ा दे दिया.

इनमें तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) के दस,कांग्रेस के दो, भारतीय जनता पार्टी (भाजपा), प्रजा राज्यम और तेलूगुदेशम पार्टी के एक-एक विधायक शामिल हैं.

इन विधायकों ने विधानसभा अध्यक्ष को इस्तीफ़ा सौंपा है. उम्मीद की जा रही है कि रविवार शाम तक विधानसभा अध्यक्ष इस्तीफ़ा स्वीकार कर लेंगे.

इससे पहले अलग राज्य की माँग पर गठित संयुक्त संघर्ष समिति की शनिवार शाम हुई बैठक में ये फ़ैसला लिया गया कि तेलंगाना क्षेत्र के सभी विधायक इस्तीफ़ा दे देंगे.

संघर्ष समिति ने तेलंगाना के मामले में सभी पक्षों से चर्चा करने के लिए बनी श्रीकृष्णा समिति के कामकाज के दायरे पर गहरी आपत्ति जताई और इसे मूल माँग से भटकाने वाला करार दिया.

संघर्ष समिति के संयोजक प्रोफ़ेसर कोडंडाराम ने कहा कि श्रीकृष्णा समिति का दायरा अलग तेलंगाना राज्य की माँग के विरुद्ध है.

एक महत्वपूर्ण घटनाक्रम में तेलंगाना क्षेत्र के कांग्रेस विधायकों में मतभेद उभर कर सामने आया है. इस क्षेत्र में पार्टी के 15 विधायक हैं लेकिन सिर्फ़ चार ने इस्तीफ़े की पेशकश की और उसमें भी दो ने ही इस्तीफ़ा सौंपा.

संबंधित समाचार