पुणे धमाका:मृतकों की संख्या 15 हुई

पुणे
Image caption विस्फोट की ज़िम्मेदारी पाकिस्तान के एक संगठन ने ली थी.

पुणे में हुए बम विस्फोट में बुरी तरह घायल दो छात्रों की रविवार सुबह मौत हो गई.

इसके साथ ही धमाके में मरने वालों की संख्या बढ़ कर 15 हो गई है.

सिम्बायोसिस इंस्ट्टीट्यूट के 24 वर्षीय छात्र विकास सुरेश तुल्स्यानी ने जहांगीर अस्पताल में दम तोड़ दिया. वह दिल्ली के रहने वाले थे.

रविवार सुबह ही कोलकाता के छात्र राजीव अग्रवाल की भी मौत हो गई. वे भी सिम्बायोसिस के लॉ कॉलेज में पढ़ते थे.

पुणे के कोरेगाँव इलाक़े में स्थित जर्मन बेकरी के पास 13 फ़रवरी को ज़बर्दस्त विस्फोट हुआ था. इसमें उसी दिन नौ लोग मारे गए थे और 50 से ज़्यादा घायल हुए थे.

कुछ घायलों को तो अस्पताल से छुट्टी मिल चुकी है लेकिन पाँच घायलों की हालत अभी भी नाज़ुक बनी हुई है.

विस्फोट के कुछ दिनों बाद अनजाने चरमपंथी संगठन लश्केर तैबा अल आलमी ने इसकी ज़िम्मेदारी लेने का दावा किया है.

संगठन का कहना है कि भारत ने पाकिस्तान के साथ कश्मीर मु्द्दे पर बात नहीं की इसलिए ये धमाके किए गए हैं.

संबंधित समाचार