रेल बजट: ख़ास बातें

  • 24 फरवरी 2010
ममत बनर्जी
Image caption ममता बनर्जी ने रेलवे के निजीकरण को ख़ारिज किया है

रेल मंत्री ममता बनर्जी ने रेल बजट पेश करते हुए कई घोषणाएँ की हैं और स्पष्ट किया है कि भारतीय रेलवे का निजीकरण नहीं होगा. लेकिन उन्होंने ये भी कहा कि वे निजी क्षेत्र से पूँजीनिवेश और सहयोग चाहती हैं.

ममता बनर्जी ने रेलवे मिशन 2020 के तहत कई तरह की सुविधाएँ उपलब्ध कराने का आश्वासन दिया.

रेल मंत्री ने रेलवे के कर्मचारियों, जिन लोगों की भूमि का अधिग्रहण होता है, आम यात्रियों को बेहतर सुविधाएँ उपलब्ध कराने के लिए कई तरह की घोषणाएँ की हैं.

रेल बजट की ख़ास बातें:-

  • रेलवे का निजीकरण नहीं होगा
  • निजी कंपनियों से साझेदारी बढ़ाने पर ज़ोर
  • यात्री किरायों में कोई बदलाव नहीं
  • कैंसर मरीज़ों के लिए एसी-3 में भी मुफ़्त यात्रा की व्यवस्था
  • एसी टिकट के लिए सर्विस चार्ज में बीस रुपए की कटौती, पहले 40 रूपए था, अब 20 रूपए लगेंगे
  • इंटरनेट से टिकट लेने पर स्लीपर श्रेणी के टिकट पर सर्विस चार्ज घटा कर दस रुपया किया गया
  • रवींद्रनाथ टैगोर की याद में भारत तीर्थ के नाम से विशेष रेलगाड़ियाँ
  • कर्मभूमि रेलगाड़ी मज़दूरों के लिए- दरभंगा से मुंबई, गुवाहाटी-मुंबई, नई जलपाईगुड़ी-अमृतसर. इसमें स्लीपर किराया सस्ता होगा
  • इस साल 1000 किलोमीटर रेल लाइनें बिछाने की योजना
  • पंचायत, ज़िला मुख्यालयों तक रेल टिकट काउंटर खुलेंगे
  • राजस्व हासिल करने के लिए बिज़ेनिस मॉडल अपनाने पर ज़ोर
  • पांच शहरों में स्पोर्ट्स अकादमियाँ खोलने की घोषणा
  • साफ़ और स्वच्छ पानी मुहैया कराने के लिए छह बोट्लींग प्लांट की स्थापना
  • निवेश बढ़ाने वाली नीतियों पर ज़ोर
  • पंचायत स्तर पर ई-टिकेटिंग केंद्र खोलने की घोषणा
  • तीन रेलवे ज़ोन में एंटी कॉलीयन उपकरण लगने की घोषणा
  • यात्रियों की सुविधाओं के लिए 1300 करोड़ आवंटन की घोषणा
  • चार हज़ार रेलवे फाटकों पर कर्मचारी की तैनाती
  • मुंबई में 101 नई उपमहानगरीय ट्रेनें चलाई जाएंगी
  • अधिक माल ढुलाई कॉरिडोर बनाने पर ज़ोर
  • माल भाड़े में वृद्धि नहीं
  • पश्चिमी माल ढुलाई कॉरिडोर के लिए जापानी कंपनी से समझौता
  • भूमि अधिग्रहण होगा तो जिन परिवारों से ज़मीन ली जाती है, हर उस परिवार के एक सदस्य को नौकरी दी जाएगी
  • रेलवे को 1328 करोड़ का मुनाफ़ा
  • रायबरेली कोच फ़ैक्टरी अगले साल काम करना शुरु करेगी
  • राष्ट्रमंडल खेलों के लिए विशेष ट्रेनें चलाने की घोषणा
  • अगले दस साल में रेलवे कर्मचारियों के लिए आवास की योजना
  • कुछ ही महीनों में 117 ट्रेनें चलाई जाएंगी

संबंधित समाचार