तस्लीमा के लेख पर हिंसा,दो मरे

कर्नाटक में एक कन्नड अख़बार में बांग्लादेशी लेखिका तस्लीमा नसरीन के एक लेख को लेकर हुई हिंसा के बाद शिमोगा ज़िले में दो लोगों के मारे जाने की ख़बर है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक एक व्यक्ति की मौत पुलिस फायरिंग में हुई तो दूसरे ने अस्पताल में दम तोड़ दिया.

पत्रकार आरके मट्टू के बताया, "स्थानीय अख़बार में एक लेख आया था. ये लेखिका तसलीमा नसरीन के एक लेख का कन्नड़ संस्करण था. इसमें कुछ ऐसी बाते हैं जिससे एक समुदाय विशेष के लोग आहत हुए हैं. उसके बाद से शिमोगा, हसन और बंगलौर में स्थिति तनावपूर्ण हो गई. कुछ गाड़ियाँ जला दी गई और ख़बर है कि दो लोग मारे गए हैं. शिमोगा में कर्फ़्यू लगा दिया गया है."

पीटीआई के अनुसार रविवार को छपे इस लेख का विरोध करने के लिए करीब 1500 लोग सड़कों पर उतर आए और जुलूस निकाला. ये जुलूस उस समय हिंसक हो गया जब लोगों ने गाड़ियों पर पत्थर फेंकने शुरु कर दिए.

इस दौरान करीब 20 वाहनों को नुकसान पहुँचा. पीटीआई के मुताबिक जब पुलिस को लगा कि स्थिति बेकाबू हो गई है तो उसने गोलियां चलाई जिसमें एक व्यक्ति की मौत हो गई.

इसके अलावा हसन में स्थिति तनावपूर्ण बनी हुई है और मुस्लिम समुदाय के लोगों ने विरोध प्रदर्शन किया. पुलिस ने कहा है कि कई वाहनों को आग लगा दी गई और पत्थर फेंके गए.