बरेली में फिर भड़की हिंसा, कर्फ़्यू जारी

बरेली में आगजनी
Image caption बरेली में दो मार्च को सांप्रदायिक हिंसा भड़क उठी थी

उत्तर प्रदेश के बरेली ज़िले में कर्फ़्यू के बावजूद शनिवार को एक बार फिर सांप्रदायिक हिंसा भड़क उठी. शहर के प्रमुख कुतबखाना चौराहे के नज़दीक सब्ज़ी मंडी में दंगाइयों ने क़रीब 20 दुकानों में आग लगा दी.

शहर में शनिवार को कर्फ़्यू का 12वाँ दिन है.

समाचार एजेंसी पीटीआई के मुताबिक शहर के सभी स्कूल, कॉलेजों को बंद करने के आदेश दे दिए गए हैं और उपद्रवग्रस्त इलाकों में हैलीकॉप्टर से निगरानी रखी जा रही है.

अधिकारियों के अनुसार हिंसाग्रस्त क्षेत्रों में कर्फ़्यू में तब तक ढील नहीं दी जाएगी, जब तक वहाँ हालात सामान्य नहीं हो जाते. शहर के छह में से चार थाना क्षेत्रों में कर्फ़्यू लगा है.

स्थिति तनावपूर्ण

स्थिति पर काबू पाने के लिए बड़ी संख्या में पुलिस बल तैनात किया गया है.

इससे पूर्व, भीड़ को उकसाने के आरोप में गिरफ़्तार बरेलवी धड़े के मौलाना तौकीर रज़ा ख़ान को शुक्रवार को रिहा कर दिया गया.

मौलाना की रिहाई के विरोध में संजय नगर और सुभाष नगर से बड़ी तादाद में लोग सड़कों पर प्रदर्शन के लिए उतर आए और तोड़फोड़ शुरू कर दी. भीड़ ने चार थाना क्षेत्रों में कर्फ़्यू का उल्लंघन किया. कुछ इलाक़ों में भीड़ ने पुलिस पर पथराव भी किया.

प्रदर्शनकारियों को नियंत्रित करने के लिए पुलिस ने आँसू गैस के गोले छोड़े और रबड़ की गोलियाँ दागी.

उल्लेखनीय है कि दो मार्च को जुलूस-ए-मोहम्मदी के दौरान शहर में दो समुदायों के बीच हिंसा भड़क गई थी, इसके बाद शहर में लगातार तनाव बना हुआ है.

संबंधित समाचार