कार्रवाई समिति से टीडीपी निलंबित

  • 13 मार्च 2010
तेलंगाना
Image caption तेलंगाना की मांग को लेकर आंदोलन चल रहा है

तेलंगाना संयुक्त कार्रवाई समिति से तेलुगूदेशम पार्टी को निकाल दिया गया है. ये कार्रवाई समिति आंध्र प्रदेश से अलग तेलंगाना राज्य के लिए आंदोलन का नेतृत्व कर रही है.

शुक्रवार देर रात कार्रवाई समिति की बैठक में तेलुगूदेशम को निलंबित करने का फ़ैसला किया गया.

समिति के संयोजक कोडंडाराम ने देर रात पत्रकारों को बताया कि तेलुगूदेशम के विधायकों ने अभी तक विधानसभा से त्यागपत्र नहीं दिया है.

तेलुगूदेशम को समिति से निकालने जाने के बाद राजनीतिक दल के नाम पर सिर्फ़ के चंद्रशेखर राव की तेलंगाना राष्ट्र समिति (टीआरएस) की इसका हिस्सा बनी हुई है.

टकराव

कांग्रेस के विधायकों ने भी जब विधानसभा से त्यागपत्र नहीं दिया, तो उन्हें समिति से निकाल दिया गया.

तेलुगूदेशम के विधायकों के इस्तीफ़ा न देने के अलावा तेलंगाना समर्थकों के साथ पार्टी का टकराव भी बढ़ गया था.

पिछले दिनों टीडीपी प्रमुख चंद्रबाबू नायडू की एक रैली में तेलंगाना समर्थकों ने विरोध प्रदर्शन किया. तो दूसरी ओर एक बार टीडीपी समर्थकों ने तेलंगाना समर्थक वकीलों की पिटाई कर दी थी.

टीडीपी ने टीआरएस पर गड़बड़ी का आरोप लगाया था. इस तनातनी के कारण तेलुगूदेशम के समिति में बने रहने पर सवाल उठ रहे थे.

अलग तेलंगाना राज्य की मांग पर टीआरएस के सभी 10 विधायकों ने त्यागपत्र दे दिया था. भारतीय जनता पार्टी और तेलुगूदेशम के एक-एक विधायकों ने इस्तीफ़ा दिया था.

संबंधित समाचार