आंध्र प्रदेश में माओवादी ठिकाने पर छापा

  • 16 मार्च 2010
शकामुरी अप्पाराव
Image caption शुक्रवार को पुलिस मुठभेड़ में दो बड़े माओवादी नेता मारे गए थे

आंध्र प्रदेश में पुलिस ने माओवादियों के विरुद्ध एक बड़ी सफलता का दावा किया है. उसने माओवादियों के एक ऐसे गुप्त ठिकाने पर छापा मारा है जहाँ बड़ी संख्या में गोला बारूद मिले हैं.

आंध्र प्रदेश पुलिस के महानिदेशक आरआर गिरीश कुमार ने सोमवार को हैदराबाद में माओवादी ठिकाने से मिले गोला बारुद के भंडार को पत्रकारों के सामने पेश किया.

इनमें लगभग तीन हज़ार हथगोले बनाने लायक़ सामग्री, छह रॉकेट लॉंचर और बारूदी सुरंग बनाने में उपयोग आने वाले साज़ो सामान सहित अन्य चीज़ें शामिल हैं.

पुलिस को यह ठिकाना पश्चिमी गोदावरी के तनुकू ज़िले के पैदपारु गांव में मिला.

गिरीश कुमार ने कहा कि इस ठिकाने का पता उन डायरियों से मिला जो दो बड़े माओवादी नेताओं से मिलीं थी. ये दो बड़े नेता शकामुरी अप्पाराव और एस कोंडल रेड्डी उर्फ़ टेक रमन्ना है, जो पिछले शुक्रवार को पुलिस मुठभेड़ में मार गए थे.

चिंता

पुलिस महनानिदेशक ने इस बात पर चिंता जताई कि माओवादी अब पश्चिमी गोदावरी जैसे शांति पूर्ण जिलों में अपना ठिकाना बना रहे हैं.

उन्होंने पूरे राज्य में आम लोगों से सतर्क रहने और किसी भी संदिग्ध व्यक्ति या संदिग्ध गतिविधि की सूचना पुलिस को देने का अनुरोध किया.

पुलिस महानिदेशक ने ये भी बताया कि माओवादियों ने राज्य में सनसनी फैलाने के लिए बड़े हमलों की योजना बनाई है और इसीलिए उनकी एक्शन टीमें राज्य में घूम रही हैं.

गिरीश कुमार का कहना था कि दो बड़े नेताओं के मारे जाने से माओवादी बहुत भड़के हुए हैं और ख़ुफ़िया विभाग ने भी चेतावनी दी है कि इसका बदला लेने के लिए माओवादी जवाबी हमला कर सकते हैं.

पुलिस ने प्रमुख व्यक्तिओं और राजनेताओं से कहा है कि वे कहीं आने जाने में एहतियात बरतें.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार