स्कारलेट कीलिंग मामले की सुनवाई

स्कारलेट कीलिंग
Image caption स्कारलेट की माँ के अनुसार उनकी बेटी एक ख़ुशमिजाज़ लड़की थी

गोवा में स्कारलेट कीलिंग की हत्या मामले के दो अभियुक्तों के ख़िलाफ़ अदालती कार्यवाही शुरू हो गई है.

फ़रवरी 2008 में ब्रिटेन की 15 वर्षीया किशोरी कीलिंग पर्यटकों के बीच लोकप्रिय गोवा के अंजुना समुद्र तट पर मृत पाई गई थी.

अभियोजन पक्ष ने इस मामले में 28 वर्षीय सैमसन डिसूज़ा और 36 वर्षीय प्लैसिडो कार्वाल्हो पर हत्या, बलात्कार और सबूत मिटाने समेत पाँच आरोप लगाए हैं.

ज़मानत पर चल रहे दोनों अभियुक्तों ने शुक्रवार को आरंभिक सुनवाई में भाग लिया.

सुनवाई कर रहे जज ने आगामी पाँच अप्रैल से इस मामले की नियमित सुनवाई का निर्देश दिया है.

गोवा के लोक अभियोजक ने बीबीसी को बताया कि मामले की सुनवाई इस साल के अंत तक पूरी हो सकेगी.

दोबारा पोस्टमॉर्टम

स्कारलेट अपने परिवार के साथ लंबी छुट्टी पर गोवा में थी. हत्या के समय उसकी माँ और परिवार के अन्य सदस्य किसी और जगह यात्रा पर थे.

शुरू में पुलिस ने कहा था कि स्कारलेट की मौत समुद्र में डूबने से हुई है, लेकिन स्कारलेट की माँ फ़ियोना मैकिओन के लगातार आग्रह के बाद शव का दोबारा पोस्टमार्टम किया गया.

दूसरे पोस्टमार्टम में पता चला कि स्कारलेट की बलात्कार के बाद हत्या की गई थी.

फ़ियोना ने अपनी बेटी की हत्या के मामले की सुनवाई के दौरान अदालत में उपस्थित रहने की इच्छा व्यक्त की थी. लेकिन इंग्लैंड में जालसाज़ी के एक मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद वह गोवा आने की स्थिति में नहीं है.

स्कारलेट की माँ ने ब्रितानी विदेश मंत्रालय पर अपनी बेटी के हत्यारों को न्याय के कठघरे में लाने में पर्याप्त मदद नहीं करने का आरोप लगाया है.