रोड पर चलता रसोईघर

  • रोड पर चलता फिरता रसोईघर
    खाना पकाता यह आदमी किसी आम रसोईघर में नहीं है. यह सड़क के किनोर बना अस्थाई रसोईघर है जो इनकी ट्रक के साथ चलता है और भूख लगने पर कहीं भी स्थापित हो जाता है.
  • रोड पर चलता फिरता रसोईघर
    इस रसोईघर में खाना पकाने के लिए सभी सामग्री उपलब्ध है. मसालों से लेकर सब्ज़ी तक सब कुछ.
  • रोड के किनारे चलता रसोईघर
    ये हैं इस रसोईघर के मालिक बिल्ला. ये और इनके साथी दो ट्रकें लेकर अलवर से कोलकाता जा रहे हैं. ट्रकों में डोलोमाइट भरा हुआ है. वे बताते हैं कि अब उनको इस रास्ते पर चलते 35 साल हो गए.
  • रोड के किनारे चलता रसोईघर
    बिल्ला के रसोई घर में हर दिन किसी सड़क के किनारे खाना पकता है और फिर दो ट्रकों में चलने वाले सभी चार सदस्य इसका आनंद उठाते हैं.
  • रोड के किनारे चलता रसोईघर
    चिकन उन्होंने पहले ही ख़रीद लिया था. वे बताते हैं कि सड़क के किनारे चिकन मिलने में कोई परेशानी नहीं होती. वे साग-सब्ज़ी भी रास्ते में ख़रीद लेते हैं.
  • रोड के किनारे चलता रसोईघर
    दूसरी ओर आटा गूँथा जा रहा है. आटा भी रास्ते में ख़रीद लिया जाता है. कभी-कभी वे अपने साथ आटा भी लेकर चलते हैं.
  • रोड के किनारे चलता रसोईघर
    बिल्ला जब तक ईंट जमा करके चूल्हा बना रहे हैं उनके साथी स्टोव पर प्रेशर कुकर में मसाले भून रहे हैं जिससे चिकन बनेगा.
  • रोड के किनारे चलता रसोईघर
    आटा तैयार होते तक चूल्हा जलने लगा और रोटियाँ बेली जाने लगीं. बिल्ला बताते हैं कि बारिश के दिनों में ही खाना बनाने में दिक़्कत होती है वरना वे अपना खाना ख़ुद ही बनाना पसंद करते हैं.
  • रोड के किनारे चलता रसोईघर
    बिल्ला ने रोटियाँ सेंकना शुरु कर दिया है. तब तक चिकन पकने लगा है. इस बीच बिल्ला रोटी सेंक रहे अपने नए साथी को डाँटते भी हैं और रो़टियाँ सेंकने के गुर भी सिखाते हैं.
  • रोड के किनारे चलता रसोईघर
    लीजिए चिकन बनकर तैयार है और इसकी ख़ूशबू हवा में फैलने लगी है. बिल्ला ने पूछा कि क्या वे घर पर भी खाना बनाते हैं, तो कहा, घर पर बीवी बनाती है, मैं सिर्फ़ खाता हूँ.
  • रोड के किनारे चलता रसोईघर
    रोटियाँ भी सिक गई हैं. और अब बस खाना खाना है. सभी को भूख लग आई है. गया से धनबाद के बीच एक टोल नाके के पास यह रसोईघर में अब काम ख़त्म हो चुका है.
  • रोड के किनारे चलता रसोईघर
    और ये है ठंडा पानी पीने का इंतज़ाम. खाना खाकर दोनों ट्रकें फिर आगे के लिए चल पड़ेंगीं अपने गंतव्य की ओर.

BBC © 2014 बाहरी वेबसाइटों की विषय सामग्री के लिए बीबीसी ज़िम्मेदार नहीं है.

यदि आप अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करते हुए इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरूप कर लें तो आप इस पेज को ठीक तरह से देख सकेंगे. अपने मौजूदा ब्राउज़र की मदद से यदि आप इस पेज की सामग्री देख भी पा रहे हैं तो भी इस पेज को पूरा नहीं देख सकेंगे. कृपया अपने वेब ब्राउज़र को अपडेट करने या फिर संभव हो तो इसे स्टाइल शीट (सीएसएस) के अनुरुप बनाने पर विचार करें.