अमरीका में विमान यात्रियों की जांच बढ़ी

  • 3 अप्रैल 2010
अमरीका में सुरक्षा जांच
Image caption दिसंबर में एक नाइजीरियाई नागरिक द्वारा एक अमरीकी विमान उड़ाने की कथित कोशिश के बाद सुरक्षा जांच में तेजी आई है

अमरीका ने घोषणा की है कि वह अपने यहाँ आने वाले यात्रियों का विस्तृत विवरण इकट्ठा करेगा और उसके आधार पर तय करेगा कि किन यात्रियों की अतिरिक्त जांच की ज़रूरत है.

यह क़दम 14 देशों से आने वाले सभी यात्रियों के लिए आवश्यक जांच की जगह लेगा. यह क़दम राष्ट्रपति बराक ओबामा के आदेश के बाद उठाया गया है.

जिन 14 देशों की आवश्यक जाँच होती है, वे हैं - अफ़गानिस्तान, अलजीरिया, क्यूबा, ईरान, इराक़, लेबनान, लीबिया, नाइजीरिया, पाकिस्तान, सउदी अरब, सोमालिया, सूडान, सीरिया और यमन.

इस आवश्यक जांच का प्रावधान पिछले साल दिसंबर में एक विमान पर असफल हमले के बाद किया गया था.

यात्रियों की जाँच इस आधार पर की जाएगी कि उनका हुलिया किस हद तक संभव 'आतंकवादी हमलों' के बारे में प्राप्त हुई जानकारी से मेल खाता है.

खुफ़िया जानकारी पर आधारित

एक वरिष्ठ अधिकारी ने बीबीसी को बताया कि अमरीका ने गुरुवार को हवाई सेवाओं को नए क़दमों के तत्काल लागू होने के बारे में सूचित करना शुरु कर दिया

अमरीका के होमलैंड सिक्योरिटी विभाग की मंत्री जेनेट नैपोलिटैनो ने कहा कि नए क़दमो में उसी समय प्राप्त हुई जानकारी, ख़तरे के आधार पर एकत्र ख़ुफ़िया जानकारी और कई स्तर की सुरक्षा का इस्तेमाल शामिल होगा.

यात्रियों को अब विस्फोटकों का पता लगाने वाले उपकरणों और इमेजिंग टेक्नॉलोजी संबंधी जाँच से पहले की तुलना में अधिक बार गुजरना पड़ेगा.

ये उपाय अमरीका आने वाले विदेशियों के साथ-साथ घरेलू विमान यात्रियों पर भी लागू होंगे.

अमरीकी प्रतिनिधि सभा के सदस्य पीटर किंग ने कहा कि खुफ़िया जानकारी का बेहतर तरीके से इस्तेमाल सुरक्षा बढ़ाने की दिशा में एक अहम कदम है.

हवाई यात्रा पर प्रतिबंध

इस समय अमरीकी सरकार ने 6000 संदिग्ध चरमपंथियों की सूची जारी की हुई है. इन पर हवाई यात्रा कर अमरीका आने या अमरीका में हवाई यात्रा करने पर प्रतिबंध है.

वाल स्ट्रीट जर्नल की रिपोर्ट के मुताबिक ये सूची अतिरिक्त खुफि़या जानकारी पर आधारित है.

जरूरत पड़ने पर उन यात्रियों की अतिरिक्त जांच भी की जा सकती है जिनका नाम इस सूची में नहीं है.

इस जांच में उनकी राष्ट्रीयता, उम्र, उपनाम, हाल में उन्होंने किन देशों की यात्रा की, जैसे विवरणों पर पड़ताल की जा सकती है.

संबंधित समाचार