भारतीय पादरी की यौन शोषण पर सफ़ाई

Image caption भारतीय पादरी पर गंभीर आरोप लगे हैं

भारत के एक रोमन कैथोलिक पादरी ने कहा है कि वो अमरीका जाकर अपने ऊपर लगे यौन शौषण के आरोपों से अपने आपको मुक्त कराना चाहते हैं.

भारतीय पादरी जोसेफ़ पलनीवेल जयपॉल पर अमरीका में एक लड़की के यौन शोषण का आरोप लगा था.

वर्ष 2004 में वो अमरीका के मिनेसोटा में पादरी के रूप में नियुक्त किए गए थे.

जब वो भारत यात्रा पर थे, उन दौरान उन पर यौन शोषण के आरोप सामने आए थे.

इसके बाद वेटिकन ने उन्हें पादरी के पद से हटाने का आदेश दिया था लेकिन उनके गृह क्षेत्र ऊंटी में उन्हें पादरी के रूप में बरक़रार रखा.

भारत में कैथोलिक बिशप कांफ्रेंस के प्रवक्ता का कहना था कि उन्हें आरोपों का सामना करने के लिए प्रेरित किया गया है.

पादरियों पर आरोप

उल्लेखनीय है कि इन दिनों वेटिकन पादरियों के बच्चों के यौन शोषण के मामले को लेकर दबाव में है.

कई महीनों से ये आरोप लगते आ रहे हैं कि जर्मनी समेत यूरोप के कई देशों में कैथोलिक पादरियों के यौन शोषण के मामलों को दबाया जा रहा है.

कुछ दिन पहले पोप बेनेडिक्ट ने आयरलैंड में कैथलिक पादरियों के बच्चों के यौन शोषण के मामले में पीड़ितों से 'माफ़ी' माँगी थी.

पोप ने कहा था कि बच्चों के यौन शोषण के संबंध में पादरियों से ‘गंभीर ग़लतियाँ’ हुई थीं.

यौन शोषण के मामले पर पिछले कई दशकों में इस तरह का ये पहला सार्वजनिक बयान था.

संबंधित समाचार