नहीं हुआ शुक्रवार को निकाह

सानिया मिर्ज़ा की माँ नसीमा मिर्ज़ा ने इस बात से इनकार किया है कि सानिया और शोएब का निकाह शुक्रवार को है.

उन्होंने कहा है कि सानिया की शादी 15 अप्रैल की सुबह को होगी और शाम में रिसेप्शन होगा. सानिया की माँ ने कहा कि शुक्रवार को निकाह की बात मीडिया की बनाई हुई बात थी. उनका कहना था कि शोएब का परिवार अभी उनके साथ नहीं है.

शुक्रवार सुबह से ही ये ख़बरें आ रही थीं कि भारत की सानिया मिर्ज़ा और पाकिस्तान के खिलाड़ी शोएब मलिक का निकाह शुक्रवार शाम को हैदराबाद में सानिया के घर पर होगा.

हैदराबाद के काज़ी अज़मतुल्लाह जाफ़री के हवाले से बयान आ रहा था कि शुक्रवार शाम सात बजे वे सानिया और शोएब का निकाह पढ़ाएंगे.

काज़ी अज़मतुल्लाह जाफ़री ने ही शोएब और आयशा सिद्दीक़ी का औपचारिक तलाक़ कराया था.

शोएब के पास नहीं पासपोर्ट

दरअसल शोएब मलिक का पासपोर्ट पुलिस ने जब़्त किया हुआ है और ये बड़ी अड़चन बन गया है.

हैदराबाद के मुख्य काज़ी मोहम्मद नजमुद्दीन हुसैन का कहना है कि विदेशी नागरिकों के निकाह के लिए ये ज़रूरी है कि उनके पास पासपोर्ट हो लेकिन शोएब के पास न तो पासपोर्ट है और न ही उसकी कोई फ़ोटोकॉपी है.

साथ ही उन्होंने कहा,"वैसे तो विदेशी नागरिक से निकाह के लिए पासपोर्ट ज़रूरी है लेकिन इस मामले में ये पता है कि शोएब के पास पासपोर्ट है. इसलिए निकाह करवाया जा सकता है लेकिन शादी के दस्तावेज़ तभी दिए जाएँगे जब अंतत शोएब अपना पासपोर्ट दिखाएगा."

सानिया और शोएब की शादी को लेकर अच्छा ख़ासा विवाद रहा है. हैदराबाद की रहनी वाली आयशा सिद्दीक़ी ने आरोप लगाया था कि शोएब की शादी उनसे हो चुकी है. सिद्दीक़ी परिवार का कहना था कि शोएब पहले आयशा को तलाक़ दें.

इसी सिलसिले में सिद्दीक़ी परिवार ने शोएब के ख़िलाफ़ एफ़आईआर दर्ज करवाया था और पुलिस ने शोएब से पूछताछ के बाद उनका पासपोर्ट ले लिया था.

बाद में समुदाय के वरिष्ठ सदस्यों ने दोनों परिवारों के बीच बात करवाई और शोएब ने आयशा को तलाक़ दे दिया. लेकिन पुलिस ने अब तक शोएब का पासपोर्ट वापस नहीं दिया है.

संबंधित समाचार