कोई ग़लती नहीं, इस्तीफ़ा नहीं दूँगा: थरूर

भारत के विदेश राज्यमंत्री शशि थरूर ने एक टीवी चैनल को दिए इंटरव्यू में कहा है कि आईपीएल विवाद को लेकर वे मंत्रीपद से इस्तीफ़ा नहीं देंगे.

भारतीय टीवी चैनल एनडीटीवी को दिए इंटरव्यू में शशि थरूर ने इस आरोप का भी खंडन किया किया कि उन्होंने अपने पद का कोई दुरुयोग किया है.

शशि थरूर ने बुधवार देर रात वित्त मंत्री प्रणब मुखर्जी और रक्षा मंत्री एके एंटनी से भी मुलाक़ात की है. आईपीएल को लेकर चल रहे विवाद के बाद से विपक्ष शशि थरूर के इस्तीफ़े की माँग कर रहा है.

इस बैठक के बारे में आधिकारिक तौर पर कुछ नहीं बताया गया है लेकिन समाचार एजेंसियों के मुताबिक शशि थरूर ने कोच्चि आईपीएल टीम को लेकर अपना रुख़ स्पष्ट किया है.

गुरुवार से दोबारा शुरु हो रहे बजट सत्र के दौरान इस मामले के उठने की संभावना है. उधर प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह ने कहा है कि वे इस मामले में सबसे पहले सच्चाई का पता लगाएँगे.

आईपीएल विवाद

दरअसल आईपीएल के आयुक्त ललित मोदी ने आरोप लगाया है नई टीम कोच्चि के मालिकों को लेकर भ्रम की स्थिति है. कोच्चि की टीम से विदेश राज्य मंत्री शशि थरुर की मित्र सुनंदा पुष्कर जुड़ी हुई हैं और सुनंदा के इसमें 70 करोड़ रुपए लगे हैं.

मोदी ने अपने ट्विटर पर लिखा था कि एक बड़ी शख्सियत ने उनसे टीम के हिस्सेदारों के नाम सार्वजनिक न करने को कहा था. माना जा रहा है कि उनका इशारा विदेश राज्यमंत्री शशि थरूर की ओर है.

वहीं थरुर का आरोप है कि मोदी ने कोच्चि टीम का विरोध किया था और वो कोच्चि के स्थान पर अहमदाबाद को यह मौका देना चाहते थे.

इससे पहले एक टीवी चैनल से बातचीत में शशि थरूर ने कहा कि इस्तीफ़ा का सवाल ही नहीं उठता.

उनका कहना था, “मैने क्या ग़लत किया कि मैं इस्तीफ़ा दूँ. जब आपने कुछ गलत किया ही नहीं हो तो ऐसा करके यही प्रतीत होता कि आप दूसरे लोगों की बातों पर ज़्यादा ध्यान दे रहे हैं.”

अपने ऊपर लगे आरोपों के बारे में विदेश राज्य मंत्री ने कहा, “मैं कांग्रेस पार्टी के लिए शर्मिंदगी का सबब नहीं बनूँगा. मुझ पर लगे आरोप झूठे हैं और कुछ लोग अपने स्वार्थों के लिए ऐसा कर रहे हैं.”

संबंधित समाचार