अब 'बसंती' चढ़ी पानी की टंकी पर

  • 20 अप्रैल 2010
शोले
Image caption छात्रा को पुलिस ने हिरासत में ले लिया है.

फ़िल्म शोले में वीरू ने बसंती से शादी करने के लिए पानी की उँची टंकी पर चढ़ कर कूदने की धमकी दी थी.

वह एक फिल्मी दृश्य था. लेकिन राजस्थान के झुंझुनू जिले में पुलिस को हक़ीक़त में ही ऐसे ही मंज़र का सामना करना पड़ा.

अंतर सिर्फ इतना था कि इस कहानी में 'बसंती' ही पानी की टंकी पर चढ़ गई. वह नीचे तभी उतरी जब उसे उसके प्रेमी से शादी कराने का भरोसा दिलाया गया.

प्रेम कहानी

टंकी से नीचे उतरने के बाद पुलिस ने छात्रा को हिरासत में लेकर उसके खिलाफ ख़ुदकशी के प्रयास का मामला दर्ज किया है.

झुंझुनू के पिलानी थाने के अधिकारी रमेश माचरा ने बीबीसी को बताया कि 11वीं कक्षा की छात्रा हिरासत में है.

उन्होंने बताया, ''अभी हम जाँच कर रहे है. अपराध बना तो उसे आत्महत्या के प्रयास के आरोप में गिरफ़्तार कर लिया जाएगा.’’

पुलिस के मुताबिक़ छात्रा सोमवार को अपने गाँव में स्कूल के पास बनी पानी की टंकी पर चढ़ गई और कहा कि तब तक नीचे नहीं उतरेगी जबतक कि उसकी शादी प्रेमी नवीन के साथ कराने का भरोसा नहीं दिलाया जाता.

यह खबर सुनकर नवीन ख़ुद मौक़े पर पहुँचे. वे ख़ुद भी छात्र हैं. छात्रा के माता-पिता भी मौक़े पर पहुँचे. मगर लड़की के पास मोबाइल फ़ोन नहीं था और टंकी की ऊँचाई ज्यादा थी.इसलिए पुलिस को छात्रा से बात करने में काफ़ी दिक़्क़त आई.

पुलिस ने टंकी पर मोबाइल पहुँचाया और पानी की बोतलें भी क्योंकि छात्रा ने अपनी बात कहने के लिए इसकी माँग की थी.

घटना के समय का दृश्य भी बिल्कुल शोले जैसे था. टंकी के नीचे भीड़ जमा थी और लड़की अपनी ज़िद पर क़ायम थी.

छात्रा के माता-पिता भी असहाय होकर खड़े रहे. कोई तीन घंटे तक चले इस ड्रामें का अंत तब हुआ जब छात्रा को इस बात का भरोसा दिलाया गया कि उसकी इच्छा पूरी की जाएगी.

लेकिन फ़िल्म शोले के प्रतिकूल इस बसंती की राह आसान नहीं थी. टंकी से नीचे उतरते ही पुलिस ने उसे हिरासत में ले लिया.

पुलिस के मुताबिक छात्रा नाबालिग़ है. लेकिन इससे भी ज़्यादा मुश्किल ये है कि छात्रा और उसके कथित प्रेमी नवीन दोनों की बिरादरी जुदा जुदा हैं.

मगर छात्रा जाति की इस दीवार को नही मानती. उसे लगता है पूरा ज़माना मोहब्बत का दुश्मन है. पुलिस ने इस पर ही रहत की साँस ली कि कोई अनहोनी नहीं हुई.

बीबीसी न्यूज़ मेकर्स

चर्चा में रहे लोगों से बातचीत पर आधारित साप्ताहिक कार्यक्रम

सुनिए

संबंधित समाचार